Astro Tips: चमेली और गुड़हल से मिलती है इन देवी देवताओं की कृपा, जाने पलाश और गेंदे से जुड़े इस राज को

Astro Tips: सभी देवी-देवताओं को ताजे फूल चढ़ाने से उनकी कृपा बनी रहती है. इन फूलों में कुछ फूल ऐसे हैं, जो अलग-अलग देवी-देवताओं को काफी पसंद होते हैं.

Harsingar Flower

हरसिंगार का फूल

Astro Tips: फूलों के बिना कोई भी पूजा-पाठ अधूरी मानी जाती है. अगर आपके पास कुछ नहीं है तो श्रद्धा भाव से चढ़ाया गया एक फूल ही काफी होता है. सभी देवी-देवताओं को ताजे फूल चढ़ाने से उनकी कृपा बनी रहती है. इन फूलों में कुछ फूल ऐसे हैं, जो अलग-अलग देवी-देवताओं को काफी पसंद होते हैं.

मान्यता के अनुसार अगर आप वैसे फूल उनको चढ़ाते हैं तो उनके आशीर्वाद से आपके बिगड़े काम बनने लगते हैं. आइए जानते हैं कि किन फूलों को चढ़ाने से कौन से देवी देवता प्रसन्न रहते हैं.

चमेली का फूल (Jasmine flower)

यह फूल हनुमान जी को अत्यधिक प्रिय है. माना जाता है की मंगलवार और शनिवार को हनुमान जी को चमेली का फूल अर्पित करने पर विशेष कृपा मिलती है. आप को बता दें कि इस फूल का बना तेल यानी चमेली का तेल और सिंदूर को एक साथ मिलाकर हनुमान जी को चोला चढ़ाया जाता है.

जिसे नियम पूर्वक चढ़ाने से मनवांछित फल की प्राप्ति होती है. हनुमान जी की पूजा में इस फूल का विशेष महत्व है.

यह भी पढ़ें: Hanuman Ji: कैसे चढ़ाएं हनुमान जी को चोला, भगवान श्रीराम भी होते है प्रसन्न

पलाश के फूल (Palash flowers)

पलाश के फूल ज्ञान की देवी सरस्वती को अत्यंत प्रिय माने जाते हैं. बसंत पंचमी के दिन इस फूल को चढ़ाने की विशेष मान्यता है. इसके अलावा प्रतियोगी छात्र अगर सरस्वती जी को यह फूल चढ़ाते हैं तो मां सरस्वती की कृपा से उनके बुद्धि और विवेक में बढ़ोतरी होती है. उनकी कृपा मिलने पर समाज में उस व्यक्ति की विद्वत्ता की ख्याति चारों ओर फैलती है.

यह भी पढ़ें: Tips For Luck: गुलाब से पूरे होंगे ख्वाब, मंगलवार के दिन करना होगा यह काम

मदार और धतूरा (Madar and Datura)

देवों के देव महादेव भगवान शिव शंभू को मदार और धतूरे के फूल काफी प्रिय होते हैं. सोमवार के दिन इन्हें शिवलिंग पर चढ़ाने से भोलेनाथ प्रसन्न होते हैं और अपने भक्त की तकलीफों को दूर करते हैं.

गेंदे का फूल (Marigold flower)

कोई भी पूजा पाठ करते समय या मांगलिक कार्यक्रम के आयोजन में सबसे पहले गणपति भगवान को पूजने का विधान है. अगर भगवान गणेश जी की कृपा रहती है तो वह आयोजन सकुशल संपन्न होता है. माना जाता है कि गणेश जी को गेंदे का फूल चढ़ाने से वे प्रसन्न रहते हैं.

गुड़हल का फूल (Hibiscus flower)

अपने लाल रंग के कारण गुड़हल मां दुर्गा को काफी प्रिय है. नवरात्र के दिनों में इसे चढ़ाने से मां दुर्गा व्यक्ति की सभी मनोकामनाएं पूरी करती हैं. इसके अलावा आप चाहे तो गुड़हल के फूलों की माला बनाकर कभी भी मां दुर्गा को अर्पित कर सकते हैं.

कमल का फूल (Lotus flower)

धन की देवी मां लक्ष्मी को कमल का फूल चढ़ाने से धन-धान्य में वृद्धि होती है. दीपावली के दिन भी इस फूल को चढ़ाने का विशेष विधान है. इसके अलावा माना जाता है कि शहद के साथ कमल के फूल का हवन करने पर भी मां लक्ष्मी प्रसन्न रहती है.

हरसिंगार या परिजात के फूल (Harsingar flower)

इन फूलों की उत्पत्ति समुद्र मंथन के द्वारा मानी जाती है. इसलिए यह फूल भगवान विष्णु को अत्यंत प्रिय हैं. भगवान विष्णु की किसी भी तरह की पूजा में इन फूलों को चढ़ाने से सभी तरह की मंगल कामनाएं पूरी होती है. इसके अलावा सत्यनारायण भगवान की कथा के दौरान भी इस फूल को चढ़ाया जा सकता है.

Also Read