Oxfam Report: देश के अरबपतियों को लेकर चौंकाने वाले खुलासे, कोरोना के समय अरबपतियों की दौलत में प्रतिदिन 3 हजार करोड़ से ज्यादा की बढ़ोतरी

Oxfam Report: ऑक्सफैम की रिपोर्ट में बताया गया है कि- साल 2020 में कोरोना महामारी शुरू होने के बाद से नवंबर 2021 तक ज्यादातर भारतीयों को नौकरी संबंधी समस्याओं का सामना करना पड़ा है.

ऑक्सफैम की रिपोर्ट

ऑक्सफैम की रिपोर्ट में चौंकाने वाले बातें

Indian Economy: देश के अरबपतियों को लेकर ऑक्सफैम ने एक रिपोर्ट पेश की है. इस रिपोर्ट में जो आकंड़े दिए गए हैं, वे वाकई में चौंकाने वाले हैं. भारत में काफी समय से कहावत कही जाती है कि ”अमीर.. और ‘अमीर’, ‘गरीब..और ‘गरीब” होता जा रहा है. वहीं देश में ये अंतर लगातार बढ़ रहा है. इसी बीच ऑक्सफैम की हालिया रिपोर्ट में इससे जुड़े कई खुलासे भी हुए हैं. रिपोर्ट के मुताबिक, भारत के 21 सबसे अमीर अरबपतियों के पास मौजूदा समय में देश के 70 करोड़ लोगों से ज्यादा दौलत है.

ऑक्सफैम की रिपोर्ट में बताया गया है कि- साल 2020 में कोरोना महामारी शुरू होने के बाद से नवंबर 2021 तक जहां ज्यादातर भारतीयों को नौकरी संबंधी समस्याओं का सामना करना पड़ा है और सेविंग्स बचाने के लिए जूझना पड़ा, वहीं पिछले साल नवंबर तक भारतीय अरबपतियों की संपत्ति में 121 फीसदी का इजाफा देखा गया. कोरोना महामारी के इस दौर में भी भारत के अरबपतियों की दौलत में प्रतिदिन 3 हजार 608 करोड़ रुपये की बढ़ोतरी हुई है.

दो साल में अरबपतियों के संख्या में हुआ इजाफा

ऑक्सफैम की यह रिपोर्ट- ‘सर्वाइवल ऑफ द रिचेस्ट: द इंडिया स्टोरी’ के मुताबिक, भारत में जहां साल  2020 में अरबपतियों की संख्या 102 थी, वहीं 2022 में यह आंकड़ा 166 हो गई. यह रिपोर्ट सोमवार को स्विट्जरलैंड के दावोस में होने वाली वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम (WEF) में पेश की जाएगी. वहीं रिपोर्ट में यह भी बताया गया कि भारत की कुल संपत्ति में से 62 फीसदी संपत्ति पर पांच फीसदी लोगों का कब्जा था. साथ ही देश की निचली 50 फीसदी आबादी का देश की महज तीन फीसदी संपत्ति पर कब्जा रहा.

ये भी पढ़ें-   Bihar News: अश्विनी चौबे के काफिले में शामिल गाड़ी पलटी, बाल-बाल बचे केंद्रीय मंत्री, 5 पुलिसकर्मी घायल

100 सबसे अमीर लोगों की संपत्ति 660 अरब डॉलर

रिपोर्ट के मुताबिक, भारत के 100 सबसे अमीर लोगों की संपत्ति 660 अरब डॉलर (करीब 54 लाख 12 हजार करोड़ रुपये) के पार जा चुकी है. बता दें कि इससे भारत का पूरा बजट 18 महीने तक चलाया जा सकता है. इस रिपोर्ट के बाद जानकारों का मानना है कि अगर भारत के अरबपतियों के कुल संपत्ति पर दो फीसदी टैक्स ही लगा दिया जाए तो आने वाले तीन साल तक कुपोषण के शिकार बच्चों की सभी जरूरतों को पूरा किया जा सकता है.

– भारत एक्सप्रेस

 

Also Read