Shraddha Murder Case: श्रद्धा हत्याकांड में जल्द चार्जशीट दाखिल कर सकती है पुलिस, अमेरिकी क्राइम शो ‘डेक्सटर’ से प्रेरित हुआ था आफताब

Shraddha Murder Case: दिल्ली पुलिस ने सभी संभावित सबूत इकट्ठे कर लिए हैं, जिससे आफताब पूनावाला को कड़ी सजा मिल सके. इससे पहले पुलिस ने वॉल्कर की हड्डियों का फॉरेंसिक टेस्ट किया था.

aftab-shraddha-1_0-sixteen_nine (1)

दिल्ली पुलिस जल्द दाखिल कर सकती है चार्जशीट

Shraddha Murder Case: राजधानी में श्रद्धा वॉल्कर की हत्या के मामले में दिल्ली पुलिस जल्द चार्टशीट दाखिल कर सकती है. खबरें के मुताबिक, दिल्ली पुलिस ने ड्राफ्ट चार्जशीट तैयार कर ली है. अभी लीगल एक्सपर्ट इसे देख रहे हैं. पुलिस जनवरी के आखिरी में किसी भी तारीख को चार्जशीट कोर्ट में दाखिल कर सकती है. तकरीबन 3000 से ज्यादा पेज की ड्राफ्ट चार्जशीट में 100 गवाहों के अलावा फॉरेंसिक और इलेक्ट्रोनिक सबूतों को आधार बनाया गया है.

बता दें कि 18 मई को आफताब पूनावाला ने श्रद्धा वॉल्कर की गला दबाकर हत्या कर दी थी. जिसके बाद उसके शव के कई टुकड़ें करके महरौली के जंगल में अलग-अलग जगहों पर फेंक दिया था. पुलिस ने पूनावाला को 12 नवंबर 2023 को गिरफ्तार किया गया था और वर्तमान में वह न्यायिक हिरासत में है.

पुलिस ने सभी संभावित सबूत इकट्ठे किए!

दिल्ली पुलिस ने सभी संभावित सबूत इकट्ठे कर लिए हैं, जिससे आफताब पूनावाला को कड़ी सजा मिल सके. इससे पहले पुलिस ने वॉल्कर की हड्डियों का फॉरेंसिक टेस्ट किया था. पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट से पता चला कि उसकी हड्डियों को काटने के लिए आरी का इस्तेमाल किया गया था. दिल्ली पुलिस को उसकी 23 हड्डियों की फॉरेंसिक रिपोर्ट प्राप्त हुई है, जो जांच के दौरान बरामद की गई थी.

ये भी पढ़ें-  गणतंत्र दिवस को लेकर BSF ने पाक सीमा पर शुरू किया ‘ऑपरेशन अलर्ट’, सुरक्षा एजेंसियों ने जारी किया अलर्ट

डेटिंग ऐप ‘बंबल’ के जरिए मिले थे श्रद्धा और आफताब

सूत्रों के मुताबिक इसे ऑस्टियोलॉजिकल स्टडी या हड्डी के टुकड़ों का बायोफिजिकल अध्ययन कहा जाता है जो ऐसे मामलों में पुलिस की मदद करता है. वॉल्कर और पूनावाला 2018 में डेटिंग ऐप ‘बंबल’ के जरिए मिले थे. वे 8 मई, 2022 को दिल्ली आए थे और 15 मई को छतरपुर इलाके में शिफ्ट हो गए थे. 18 मई, 2022 को पूनावाला ने कथित तौर पर उसकी हत्या कर दी. उसके शरीर के 35 टुकड़े कर दिए और 18 दिनों की भीतर उन टुकड़ों को अलग-अलग स्थानों पर फेंक दिए. वह कथित तौर पर अमेरिकी क्राइम शो ‘डेक्सटर’ से प्रेरित था, जो एक ऐसे व्यक्ति की कहानी कहता है, जो दोहरी जिंदगी जीता है.

आफताब ने बताया था कि श्रद्धा से उसका 18 मई को झगड़ा हुआ था. इसके बाद उसने श्रद्धा की गला दबाकर हत्या कर दी थी. आफताब ने इसके बाद श्रद्धा के शव के 35 टुकड़े किए थे.

– भारत एक्सप्रेस

Also Read