Shraddha Murder Case: दिल्ली पुलिस ने कोर्ट में दायर की साढ़े 6 हजार पन्नों की चार्जशीट, आफताब बोला- मेरे वकील को मत दिखाना

Shraddha Murder Case: पिछले साल 18 मई को एक झगड़े के बाद आफताब ने श्रद्धा की हत्या कर दी थी. पहले उसका गला दबाया गया था और जब उसकी मौत हो गई. तब बड़ी ही बेरहमी से उसके शरीर के कई टुकड़े कर दिए और फिर चालाकी से कई दिनों तक उन टुकड़ों जंगल में ठिकाने लगाता रहा.

Shraddha Murder Case

आफताब और श्रद्धा

Shraddha Murder Case: दिल्ली पुलिस की ओर से मंगलवार को साकेत जिला अदालत के समक्ष श्रद्धा वॉल्कर हत्याकांड में चार्जशीट दाखिल कर दी गई है. पुलिस ने 6636 पन्नों की एक विस्तृत चार्जशीट दायर की है. पुलिस ने ये चार्जशीट फॉरेंसिक और इलेक्ट्रॉनिक सबूतों के आधार पर बनाई है. आफताब पूनावाला पर आरोप है कि उसने अपने लिव-इन पार्टनर वॉल्कर की हत्या की और फिर उसके शरीर के कई टुकड़े कर तीन महीने के भीतर अलग-अलग जगहों पर फेंक दिए. अभी के लिए आफताब की न्यायिक हिरासत 7 फरवरी तक बढ़ा दी गई है.

बता दें कि इस मामले में दिल्ली पुलिस ने 75 दिनों बाद ये चार्जशीट दायर की है. पुलिस की तरफ से आफताब का नार्को टेस्ट हुआ था, पॉलीग्राफी टेस्ट हुआ था, कई तरह के सवाल-जवाब पूछे गए थे, उसके बाद ये चार्जशीट तैयार हुई है.

कोर्ट में सुनवाई के दौरान आफताब चाहता था कि उसके वकील को चार्जशीट ना दिखाई जाए, लेकिन एक कॉपी उसे जरूर उपलब्ध करवा दी जाए. इस पर मजिस्ट्रेट ने साफ कहा है कि 7 फरवरी को इस मांग पर संज्ञान लिया जाएगा. उसके बाद ही आफताब को केस की चार्जशीट मिल पाएगी.

बताया जा रहा है कि आफताब पूनावाला ने अपने वकील को बदलने की भी मांग की थी. इसके साथ ही उसने पढ़ने के लिए कानून की किताबों की मांग की थी.

ये भी पढ़ें: Shraddha Murder Case: श्रद्धा हत्याकांड में जल्द चार्जशीट दाखिल कर सकती है पुलिस, अमेरिकी क्राइम शो ‘डेक्सटर’ से प्रेरित हुआ था आफताब

बीते 6 जनवरी को, आफताब पूनावाला ने अदालत में एक आवेदन दिया था, जिसमें रोजमर्रा की वस्तुओं के साथ-साथ गर्म कपड़े खरीदने के लिए धन की आवश्यकता का हवाला देते हुए अपने डेबिट और क्रेडिट कार्ड जारी करने की मांग की गई थी. पूनावाला का आवेदन उनके वकील के माध्यम से किया गया, जिसमें उनके बैंक खाते से धन जारी करने की मांग की गई थी और कहा गया था कि उनके पास जेल के अंदर पर्याप्त गर्म कपड़े नहीं हैं. जिसके बाद कोर्ट ने जेल अधिकारियों को उसे गर्म कपड़े मुहैया कराने का भी निर्देश दिया था.

गौरतलब है कि पिछले साल 18 मई को एक झगड़े के बाद आफताब ने श्रद्धा की हत्या कर दी थी. पहले उसका गला दबाया गया था और जब उसकी मौत हो गई. तब बड़ी ही बेरहमी से उसके शरीर के कई टुकड़े कर दिए और फिर चालाकी से कई दिनों तक उन टुकड़ों जंगल में ठिकाने लगाता रहा. 12 नवंबर को पुलिस ने आफताब को गिरफ्तार किया था.

-भारत एक्सप्रेस

Also Read