America: राष्ट्रपति जो बाइडन की बढ़ी मुश्किलें, अमेरिकी न्याय विभाग को छापेमारी के दौरान मिले गोपनीय दस्तावेज

अधिकारियों ने गोपनीय दस्तावेजों की तलाशी के लिए जो बाइडन के डेलवेयर स्थित घर और विलमिंगटन स्थित पूर्व ऑफिस में छापेमारी की थी.

Joe Biden

अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन

America: अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन की मुश्किलें लगातर बढ़ती जा रही हैं.  जो बाइडन के घर में गोपनीय दस्तावेज मिलने से उनकी परेशानी कम होती नहीं दिख रही है. दरअसल, जो बाइडन के घर पर एक बार फिर से छापेमारी की गई है. एफबीआई (FBI) ने शुक्रवार को विलमिंगटन, डेलावेयर में राष्ट्रपति जो बिडेन के घर की तलाशी ली थी. अमेरिकी न्याय विभाग की छापेमारी के दौरान बाइडन के घर से छह और गोपनीय दस्तावेज मिले हैं जो कि उनकी मुश्किलें और बढ़ा सकती हैं. इस बात की पुष्टि बाइडन के निजी वकील बॉब बाउर ने की है.  वकील बॉब बाउर ने बताया कि यह तलाशी करीब 12 घंटे तक चली थी.

अधिकारियों ने पूर्व ऑफिस में की छापेमारी

बाइडन के वकील के मुताबिक शुक्रवार को न्याय विभाग के अधिकारियों ने गोपनीय दस्तावेजों की तलाशी के लिए जो बाइडन के डेलवेयर स्थित घर और विलमिंगटन स्थित पूर्व ऑफिस में छापेमारी की थी.  राष्ट्रपति ने स्वेच्छा से FBI को अपने घर में आने की अनुमति दी. लेकिन मिले गोपनीय दस्तावेज उस वक्त के थे, जब जो बाइडन उपराष्ट्रपति थे. राष्ट्रपति जो बाइडन पर आरोप था कि वह पद छोड़ने से पहले अपने गोपनीय दस्तावेज साथ ले गए थे.

ये भी पढ़े:- Britain: चार बच्चों के पिता की हत्या का मामला, कोर्ट ने एक सिख को ठहराया दोषी

बाइडन: मेरा पूरी तरह से सहयोग

अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने जांच को लेकर कहा है कि नवंबर में उनके निजी कार्यालय में गोपनीय दस्तावेज पाए गए थे. लेकिन दस्तावेज पाए जाने से पहले उनका खुलासा नहीं करने पर कोई पछतावा भी नहीं है. बाइडन ने कहा कि हम पूरी तरह से सहयोग कर रहे हैं और इसे जल्दी से हल करने के लिए भी उत्सुक हैं. मुझे लगता है कि आप पाएंगे कि वहां कुछ भी नहीं है और मुझे कोई पछतावा नहीं है. साथ ही कहा वकीलों ने मुझे जो बताया है, मैं उसका पालन कर रहा हूं. घटनाक्रम के सामने आने के हफ्ते भर बाद उनकी पहली टिप्पणी आई है.

ट्रंप के ऊपर भी जांच का खतरा

डोनाल्ड ट्रंप के घर से कुछ गुप्त क्लासिफाइड दस्तावेज मिले हैं जिसके बाद से उनके ऊपर जांच का खतरा मंडरा रहा है. हालांकि, इस मामले में ट्रंप का भी बयान आ गया है. उन्होंने कहा कि मुझे फंसाया जा रहा है. इन फाइलों को कुछ नफरती संघीय अधिकारियों द्वारा प्लांट किया गया है. लेकिन मैं इससे डर नहीं रहा हूं क्योंकि मुझे पता है कि ये सब फंसाने के लिए किया गया है और कोई भी सबूत नहीं है. ट्रंप ने कहा कि मैने अपने राष्ट्रपति कार्यकाल के दौरान कुछ भी गलत नहीं किया था. यह सब मेरे खिलाफ साजिश रची जा रही है.

-भारत एक्सप्रेस

Also Read