UP Kanya Sumangla Yojana: यूपी सरकार की नई पहल, बेटियों की परवरिश से लेकर पढ़ाई तक का उठा रही है जिम्मा

UP Kanya Sumangla Yojana

UP Kanya Sumangla Yojana: देश में लड़कियों को बढ़ावा देने के लिए सरकार लगातार कई प्रयास करती रहती हैं. जिसके तहत लड़कियों के विकास और उत्थान के लिए कई योजनाओं की शुरुआत की जाती हैं. इसी कड़ी में उत्तर प्रदेश सरकार ने कन्या सुमंगला योजना शुरू किया हैं. जिसमें बच्चियों के जन्म से लेकर उनकी पढ़ाई तक सरकार सहायता करेगी ताकि लड़कियों का भविष्य संवारा जा सकें.  कन्या भ्रूण हत्या और बाल विवाह जैसी कुरूतियों को खत्म करने के उद्देश्य से इस योजना की शुरु किया गया हैं.

क्या है कन्या सुमंगला योजना

उत्तर प्रदेश कन्या सुमंगला योजना में केवल उन बच्चियों को शामिल किया गया हैं.  जिनका जन्म एक अप्रैल 2019 के बाद हुआ है. इसके लिए उत्तर प्रदेश का निवासी होना आवश्यक है. बता दें कि 21 साल की होने के बाद बच्चियों की शादी के लिए भी सरकार आर्थिक सहायता करती है. उत्तर प्रदेश कन्या सुमंगला योजना के लिए सरकार ने 1200 करोड़ का बजट तय किया था. इसका लाभ लेने के लिए सिर्फ 10 रुपये खर्च होंगे. उत्तर प्रदेश में कन्या सुमंगला योजना का लाभ अभी तक राज्य की 9.36 लाख बच्चियों को मिल चुका है.

6 किस्तों में मिलेंगे पैसे

बच्ची के जन्म पर उत्तर प्रदेश कन्या सुमंगला योजना की पहली किश्त 2000 रूपए मिलेगी.
एक साल पर टीकाकरण पूरे होने के बाद दूसरी क़िस्त एक हजार रुपये दी जाएगी.
स्कूल में एडमिशन लेने पर 2 हजार रुपये मिलेंगे.
कक्षा 6वीं में एडमिशन के समय दो हजार रुपये मिलेंगे.
कक्षा 9वीं में एडमिशन के समय 5 वीं क़िस्त तीन हजार रुपये दिए जाते हैं.
स्नातक या कोई डिप्लोमा कोर्स के लिए पांच हजार रुपये मिलते हैं.
बेटियों की आयु 21 साल होने पर उनकी शादी या उच्च शिक्षा के लिए भी सरकार सहायता प्रदान करती है.

भारत एक्सप्रेस

Also Read