Lucknow Airport: लखनऊ हवाई अड्डे पर चार महीने तक रात की उड़ानें बंद, 23 फरवरी से नियम लागू, जाने वजह

Chaudhary Charan Singh Airport: एक अधिकारी ने जानकारी देते हुए बताया कि, “चार महीने की अवधि के दौरान हवाईअड्डे पर बुनियादी ढांचे को उन्नत करने के लिए तीन नए लिंक टैक्सीवे, विमान संचालन के लिए नई ग्राउंड लाइट, रनवे आदि का विकास किया जाएगा.

lucknow airport

लखनऊ एयरपोर्ट (फोटो ani)

Chaudhary Charan Singh Airport: चौधरी चरण सिंह अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डे पर रात की उड़ाने बंद होने जा रही हैं. 23 फरवरी से 11 जुलाई तक चार महीनों के लिए रात की उड़ानों पर रोक लगाई गई है.  यह जानकारी हवाई अड्डे के अधिकारियों ने दी है. रात 9:30 बजे से सुबह 6 बजे तक के बीच कोई उड़ान संचालन नहीं होगा. उन्होंने बताया कि यात्रियों को अच्छा अनुभव कराने के लिए एयरपोर्ट पर लगातार काम किया जा रहा है. इस दौरान एयरपोर्ट पर रनवे का विकास किया जाएगा. उस अवधि के दौरान रनवे लैंडिंग और टेक-ऑफ के लिए उपलब्ध नहीं होगा.

हवाईअड्डे के एक प्रवक्ता ने कहा, “चार महीने की अवधि के दौरान हवाईअड्डे पर बुनियादी ढांचे को उन्नत करने के लिए तीन नए लिंक टैक्सीवे, विमान संचालन के लिए नई ग्राउंड लाइट, रनवे आदि का विकास किया जाएगा.” यात्रियों की सुविधा के लिए एयरलाइनों को साढ़े आठ घंटे तक रनवे की अनुपलब्धता के बारे में सूचित किया गया है.

23 फरवरी से शुरू होगा रनवे पर विकास का काम

सीसीएसआईए (CCSIA) के प्रवक्ता ने बताया कि, “23 फरवरी से शुरू होने वाली चार महीने की अवधि के दौरान, हवाईअड्डे पर बुनियादी ढांचे को उन्नत करने के लिए विभिन्न निर्माण गतिविधियों का आयोजन किया जाएगा. उन्होने बताया कि, “विस्तार के हिस्से के रूप में, हवाईअड्डा तीन अतिरिक्त लिन्क टैक्सीवे का निर्माण करेगा, रनवे सिरों को अपग्रेड करेगा और बेहतर एयरसाइड परिचालन दक्षता के लिए अन्य संबंधित सुधार कार्य करेगा.”

ये भी पढ़ें-   Weather Update: सर्दी से राहत के बीच इन राज्यों में हो सकती है बारिश, पहाड़ी इलाकों पर बर्फबारी, जाने मौसम का हाल

जलवायु परिवर्तन मंत्रालय की ओर से मिली है मंजूरी

हवाईअड्डे को पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्रालय से, यात्री हैंडलिंग क्षमता को हर साल 39 मिलियन तक और कार्गो हैंडलिंग क्षमता को 0.25 मिलियन टन प्रति वर्ष बढ़ाने के लिए पर्यावरणीय मंजूरी मिली है. बता दें कि हाल ही में नेशनल काउंसिल ऑन सिविल एविएशन एंड एयरपोर्ट इंफ्रास्ट्रक्चर ने लखनऊ के चौधरी चरण सिंह इंटरनेशनल एयरपोर्ट (CCSIA) को 25 मिलियन श्रेणी के तहत वर्ष का सर्वश्रेष्ठ क्षेत्रीय हवाईअड्डा घोषित किया था. हवाईअड्डे में ‘राष्ट्र निर्माण’ में योगदान देने का जुनून है और यह ‘यात्री पहले’ के दर्शन का पालन करता है.

– भारत एक्सप्रेस

Also Read