Basant Panchami 2023: बसंत पंचमी पर बनने वाले ये 4 शुभ योग दिलाएंगे सभी कामों में सफलता, करियर और शिक्षा में मिलेगा विशेष लाभ

Basant Panchami 2023: ज्योतिष के अनुसार इस बार की बसंत पंचमी बेहद ही खास है. इस दिन कई शुभ योग बन रहे हैं, जिनमें मां सरस्वती की पूजा करना बहुत ही शुभ माना गया है.

Maa Saraswati

मां सरस्वती

Basant Panchami 2023: बसंत पंचमी का दिन विद्या और संगीत की देवी मां सरस्वती को समर्पित है. हिंदू धर्म में बसंत पंचमी को शिक्षा का पर्व भी माना गया है. उपनयन संस्कार के लिए भी इस दिन को उत्तम माना जाता है. प्राचीन भारत में इस दिन से ही गुरुकुलों में शिक्षा देने की शुरूआत की जाती थी. हर साल माघ शुक्ल की पंचमी तिथि को बसंत पंचमी मनाई जाती है.

इस बार यह 26 जनवरी 2023 को पड़ रही है. हिंदू धर्म के अनुसार, इस दिन माता सरस्वती की पूरे विधि-विधान से पूजा करने पर मां लक्ष्मी और मां काली की कृपा भी प्राप्त होती है.

ज्योतिष के अनुसार इस बार की बसंत पंचमी बेहद ही खास है. इस दिन कई शुभ योग बन रहे हैं, जिनमें मां सरस्वती की पूजा करना बहुत ही शुभ माना गया है. ज्योतिष के जानकारों के अनुसार इस बार बसंत पंचमी पर 4 शुभ योग बन रहे हैं. आइए जानते हैं इस बार के बसंत पंचमी पर बनने वाले शुभ मुहूर्तों के बारे में.

सर्वार्थसद्धि योग में पूरी होगी मनोकामना

26 जनवरी 2023 को बसंत पंचमी के दिन समस्त शुभ योगों में सबसे खास माना जाने वाला सर्वार्थसिद्धि योग बन रहा है. इस योग की शुरुआत इस दिन शाम 6.57 बजे से होते हुए अगले दिन सुबह 7.12 बजे तक रहेगा. इस दौरान किसी भी शुभ काम की शुरूआत की जा सकती है.

रवि योग दिलाएगा करियर में सफलता

बसंत पंचमी के दिन बनने वाला रवि योग तब बनता है जब चन्द्रमा सूर्य से 4 नक्षत्र की दूरी पर होता है. इसलिए बसंत पंचमी के दिन इस योग में पूजा पाठ करने से प्रतियोगी छात्रों को सफलता मिलती है.

यह भी पढ़ेंः Mahavidya: मां महात्रिपुर सुन्दरी की साधना से होती है सभी कामनाओं की पूर्ति, इस विधि और मंत्र से करें मां कि पूजा

शिव योग है खास

ज्योतिष के जानकारों के अनुसार शिव योग का निर्माण तब होता है जब नवें भाव का स्वामी ग्रह दसवें भाव तथा दसवें भाव का स्वामी ग्रह पांचवे भाव में हो. यह बहुत ही शुभ योग है, जोकि 26 जनवरी को भोर में ही 3.10 बजे से दोपहर 3.29 बजे तक रहेगा. इस दौरान पूजा पाठ करने से पुण्य की प्राप्ति होती है.

बसंत पंचमी पर खास है सिद्ध योग

विशेष दिन, विशेष तिथि और खास नक्षत्रों के एक साथ होने पर बनने वाले योग को सिद्ध योग कहा जाता है. कहा जाता है कि इस योग में शुरू किए गए किसी भी तरह के कार्यों में निस्संदेह सफलता मिलती है. बसंत पंचमी पर इस योग के बनने से इस दिन को बेहद ही खास माना जा रहा है.

इस तरह करें बसंत पंचमी के दिन पूजा

इस दिन माता सरस्वती की पूजा करने के दौरान पीले रंग के कपड़े पहनें. इसके अलावा इस दिन घर में पीले व्यंजन पकाना बहुत शुभ माना जाता है. मां सरस्वती को पूजा में केसर, पीले फूल, हल्दी, पीले रंग की मिठाई अर्पित करने से लाभ मिलता है.

इस दिन लोग मां सरस्वती के मूल मंत्र ‘ॐ ऐं सरस्वत्यै नमः’ का जाप हल्दी की माला से करते हैं. बसंत पंचमी के दिन छात्रों द्वारा मां सरस्वती की पूजा करने से बुद्धि का विकास होता है. वहीं प्रतियोगी छात्रों को भी इस दिन मां सरस्वती के मंत्रों का जाप करना चाहिए.

Also Read