एक्शन में PWD मंत्री: कानपुर में उंगली मारकर खोद डाली सड़क, यहां तो नप गए कई इंजीनियर

मंत्री ने इंजीनियर के सामने खोली खराब सड़कों की पोल

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने 15 नवंबर तक सभी सड़कों को गड्ढामुक्त करने का आदेश जारी किया है. सड़कें गड्ढामुक्त हो रही हैं या नहीं? इस सवाल का जवाब जानने के लिए लोक निर्माण विभाग के (PWD) मंत्री जितिन प्रसाद खुद उत्तर प्रदेश के जिलों में जाकर सड़कों का निरीक्षण कर रहे हैं. मंत्री जितिन प्रसाद सोमवार को कानपुर पहुंचे. निरीक्षण के बाद लापरवाही करने वाले कई इंजिनियरों को सस्पेंड कर दिया गया है.

यहां बीजेपी विधायक सुरेंद्र मैथानी ने उनसे (मंत्री जितिन प्रसाद) पनकी में बनी रोड का सही ढंग से निर्माण ना होने की शिकायत की. मौके पर मौजूद लोक निर्माण विभाग के अधिकारी उसको सही बताते रहे. इस दौरान बीजेपी विधायक और अधिकारी के बीच किसी बात को लेकर आपस में तनातनी हो गई. जिसको देख मंत्री जितिन प्रसाद खुद रोड का निरीक्षण करने के लिए 10 किलोमीटर दूर पनकी पहुंच गए.

वहां भाटिया चौराहे से पनकी मंदिर तक बनी रोड का मंत्री जितिन प्रसाद ने पैदल ही निरीक्षण करना शुरू किया. इस दौरान उनके साथ बीजेपी विधायक सुरेंद्र मैथानी और पीडब्ल्यूडी के बड़े अधिकारी भी साथ में थे. सड़क पर चलने के दौरान ही उन्होंने एक जगह रुककर सड़क पर अपनी उंगली से खुरचकर सड़क का निरीक्षण शुरू किया. जैसे ही मंत्री जितिन प्रसाद ने सड़क को खुरचा तो सड़क की लेबल उखड़ गई और मिट्टी निकल आई.

सड़क की हालत देखकर मंत्री जितिन प्रसाद भड़क गए. उन्होंने पूछा कि ठेकेदार कहां है? ठेकेदार पर कार्रवाई करो, पूरी रिपोर्ट मुझे चाहिए.बताया जा रहा है कि इस सीमेंटेड सड़क का निर्माण 34 करोड़ की लागत से किया गया है.

लोक निर्माण विभाग के मंत्री जितिन प्रसाद का कहना है कि सीएम योगी जी का सड़कों को लेकर सीधा निर्देश है, कोई भी गुणवत्ता से समझौता नहीं होगा,  जीरो टॉलरेंस पर ही काम होगा, ऐसे में जो भी दोषी होगा, उसकी जांच करके कार्रवाई की जाएगी.

-भारत एक्सप्रेस

 

 

Also Read