Madhya Pradesh: सीएम शिवराज सिंह चौहान ने राज्य स्तरीय जनजातीय गौरव दिवस की तैयारियों का लिया जायजा

shivraj singh chouhan

एमपी के सीएम शिवराज सिंह चौहान (मध्य)

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने रविवार को शहडोल के लालपुर गाँव पहुंचकर राज्य-स्तरीय जनजातीय गौरव दिवस की तैयारियों का जायजा लिया और अधिकारियों के साथ समीक्षा की. मुख्यमंत्री ने कहा कि यह हमारा सौभाग्य है कि जनजातीय गौरव दिवस पर राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू मध्यप्रदेश आ रही हैं. राष्ट्रपति बनने के बाद उनकी यह पहली मध्यप्रदेश की यात्रा है. हम उनका शहडोल में भव्य स्वागत करें और कार्यक्रम को ऐतिहासिक, अभूतपूर्व एवं गरिमामयी स्वरूप प्रदान करें.

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि 15 नवम्बर भगवान बिरसा मुंडा के जन्म-दिवस पर जनजातीय परंपराओं एवं संस्कृति पर आधारित लोक नृत्यों एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम सुनिश्चित किये जायेंगे. राष्ट्रपति का जनजातीय परंपराओं के अनुसार भव्य और गरिमामय स्वागत की तैयारियां भी सुनिश्चित की जाये. कमिश्नर शहडोल संभाग राजीव शर्मा ने सभा स्थल की तैयारियों, बैठक, पार्किंग, पेयजल, परिवहन एवं भोजन व्यवस्था की तैयारियों की जानकारी दी.

खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री बिसाहूलाल सिंह, जनजातीय कल्याण मंत्री मीना सिंह, विधायक जयसिंह मरावी, मनीषा सिंह, शरद कोल, अध्यक्ष नगरपालिका बुढार शालिनी सरावगी, एडीजी डीसी सागर, मुख्य वन संरक्षक लाखन सिंह उइके, कलेक्टर वंदना वैद्य सहित जन-प्रतिनिधि एवं अधिकारी उपस्थित रहे.

15 नवम्बर को लागू होगा पेसा एक्ट

मुख्यमंत्री चैहान ने कहा कि यह हर्ष का विषय है कि 15 नवम्बर को भगवान बिरसा मुंडा के जन्म-दिवस पर राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू की उपस्थिति में मध्यप्रदेश में सामाजिक समरसता लाने के उददेश्य से पेसा एक्ट लागू होगा. मुख्यमंत्री चौहान शहडोल जिले के लालपुर में राज्य स्तरीय जनजातीय गौरव उत्सव की तैयारियों पर पत्रकारों से चर्चा कर रहे थे. मुख्यमंत्री ने कहा कि हम सभी मिलकर सामाजिक समरसता का परिचय देते हुए राष्ट्रपति का ऐसा ऐतिहासिक और गौरवपूर्ण स्वागत करें, जो उन्हें हमेशा स्मरण रहें.

shivraj singh chouhan

मुख्यमंत्री से कस्तूरबा गांधी छात्रावास की छात्राओं ने मुलाकात की

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि यह मध्यप्रदेश के लिये गौरव की बात है कि राष्ट्रपति द्रोपदी मुर्मू के मुख्य आतिथ्य में शहडोल में 15 नवंबर को जनजातीय गौरव दिवस का राज्य स्तरीय कार्यक्रम होगा. इसी दिन मध्यप्रदेश में जनजातीय समुदाय के हित में पेसा एक्ट भी अधिकारिक रूप से लागू किया जायेगा. मुख्यमंत्री ने कहा कि सामाजिक समरसता के साथ प्रदेश का विकास सरकार की प्राथमिकता है. गुरूवाही से बांधवगढ़ जाते समय मुख्यमंत्री से कस्तूरबा गांधी छात्रावास की छात्राओं ने मुलाकात की और उनका आत्मीय स्वागत किया. मुख्यमंत्री ने छात्राओं को आशीर्वाद दिया और उनकी शिक्षा के संबंध में जानकारी ली.

– भारत एक्सप्रेस

Also Read