Uttarakhand: नया ड्रेस, NCERT की पढ़ाई… मॉडर्न बनेंगे उत्तराखंड के मदरसे, लागू होंगे नए नियम

मदरसों के शिक्षा सत्र में NCERT पाठ्यक्रम और नया ड्रेस को लागू किया जाएगा. वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष शादाब शम्स ने कहा कि शुरुआत में ये केवल सात मदरसों को मॉडर्न स्कूल की तर्ज पर चलाया जाएगा

uttarakhand waqf board

मदरसों में शुरु होगी NCERT की पढ़ाई

उत्तराखंड के मदरसों में अब वक्फ बोर्ड के तहत नए नियम लागू होने वाले है. जिसमें बेहतर तरीके के शिक्षा दी जाएगी. मदरसों के शिक्षा सत्र में NCERT पाठ्यक्रम और नया ड्रेस को लागू किया जाएगा. वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष शादाब शम्स ने कहा कि शुरुआत में ये केवल सात मदरसों को मॉडर्न स्कूल की तर्ज पर चलाया जाएगा, सिर्फ इतना ही नहीं इन मदसरों में सभी धर्मों की के बच्चे भी शिक्षा ले सकते हैं .

मॉडर्न बनेंगे मदरसे होगा ड्रेस कोड लागू

अध्यक्ष शादाब शम्स ने कहा कि बोर्ड के दायरे में आने वाले सभी 103 मदरसों में ड्रेस कोड और एनसीईआरटी(NCERT) पाठ्यक्रम लागू करने जा रहे हैं. पहल चरण में इसकी शुरुआत देहरादून, ऊधमसिंहनगर और हरिद्वार के दो-दो मदरसों की जाएगी इसके साथ ही नैनीताल में एक मदरसे को मॉडर्न तर्ज पर चलाने की तैयारी शुरु की जा रही है. जिसके बाद बाकि मदरसों में नई शिक्षा लागू की जाएगी. अभी सबसे ज्यादा जिस पर ध्यान दिया जा रहा है, वो मदरसों में नया ड्रेस कोड और NCERT की पढ़ाई है. इसको लेकर काफी चर्चा है कि मदरसों में ड्रेस कोड किस तरह का होगा, उसका कैसा रंग होगा. हालांकि अभी तक इस पर कोई फैसला नहीं आया है. बोर्ड अभी इन पर विचार कर रहा है.

मदरसों में शिक्षा का टाइम टेबल तय

बोर्ड की तरफ से जो नए नियम लागू होने वाले है उसमें मदरसों के लिए समय भी तय कर दिए गए हैं. बता दें कि मदरसों में सुबह 6:30 से 7:30 बजे तक फजर की नमाज के बाद कुरान की शिक्षा दी जाएगी(धार्मिक पढ़ाई). इसके बाद सुबह आठ से दोपहर दो बजे तक मदरसे सामान्य स्कूल की तरह चलेंगे. जबकि दो बजे के बाद फिर मदरसे के रूप में चलने लगेंगे. इन मदरसों में सभी धर्मों के बच्चे शिक्षा ले सकेंगे.

उत्तराखंड के मदरसों को एकदम मार्डन बनाने की तैयारी की रही है. प्राइवेट स्कूलो कीं तरह इनमें स्मार्ट क्लास होंगी, अच्छे टीचर होंगे. ताकि हमारे बच्चों का आने वाला भविष्य बहतरीन बन सकें. बच्चे इनमें पढ़कर इंजीनियर और डॉक्टर बन सके.

ये भी पढ़ें-

Shahjahanpur: बीजेपी सांसद अरुण सागर को कोर्ट ने भगोड़ा घोषित किया, इस मामले में हुई कार्रवाई

उत्तराखंड बोर्ड से होंगे पंजीकृत

इसके साथ है वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष शादाब शम्स ने कहा कि मदरसों को मदरसा बोर्ड नहीं बल्कि उत्तराखंड बोर्ड से पंजीकृत किया जाएगा.

– भारत एक्सप्रेस

 

 

Also Read