UP News: पति की दो साल पुरानी कब्र को खुदवाकर पत्नी ने निकलवाए अवशेष, जानिए पूरा मामला

Farrukhabad: महिला ने अपने मूल निवास केरल में मृत पति के अवशेषों को दफन करने के लिए जिला प्रशासन के आगे मांग रखी थी.

जौली पॉल और खोदी जा रही है कब्र

अनिल वर्मा शेखर

UP News: उत्तर प्रदेश के फर्रुखाबाद से चौंका देने वाला मामला सामने आ रहा है. यहां एक महिला ने फर्रुखाबाद के कब्रिस्तान में दफन अपने पति के शव को खुदवाकर उसके अवशेषों को प्राप्त किया है. ताकि इन अवशेषों को अपने मूल निवास केरल ले जाकर वहां के कब्रिस्तान में दफन कर सके.

बता दें कि इस मामले के लिए जिलाधिकारी को ज्येष्ठ अभियोजन अधिकारी के आलावा सीनियर चर्च पादरी से भी राय लेनी पड़ी है, लेकिन आखिरकार महिला के प्यार की जीत हुई और उसकी मांग पूरी हुई. जानकारी सामने आ रही है कि उप जिलाधिकारी की उपस्थिति में शव खुदवाकर उसके अवशेष महिला को सौंप दिए गए हैं. इस पूरी प्रक्रिया में पांच महीने से अधिक का समय लगा है.

ये भी पढ़ें- Gorakhpur: अंतिम संस्कार से लौट रहा वाहन बिजली के खंभे से टकराया, तीन की मौत, आठ लोग गंभीर रूप से घायल

जानें पूरा मामला

ये पूरी घटना फर्रुखाबाद के सेंट एंथोनी स्कूल में पढ़ाने वाले ईसाई पॉल दम्पति से जुड़ा है. जौली पॉल के पति ईजे पाल की 24 अप्रैल 2021 को कोरोना से मौत हो गई थी. इसके बाद उनका शव शीशम बाग क्रिश्चियन कब्रिस्तान में ही दफना दिया गया था. जौली पॉल मूलतः केरल के कोट्टम जिले की रहने वाली है. जौली ने जिलाधिकारी से इजाजत मांगी कि उनके पति के शव के अवशेषों को केरल ले जाने की अनुमति दी जाए. इसके बाद जिलाधिकारी ने ज्येष्ठ अभियोजन अधिकारी से राय मांगी तो उन्होंने अपनी रिपोर्ट में कहा कि आमतौर पर मृत्यु के कारणों में विवाद की स्थिति होने पर मजिस्ट्रेट शव को कब्र से निकलवाने की अनुमति देते हैं.

चूंकि जौली का मामला किसी आपराधिक प्रकरण से सम्बंधित नहीं है इसलिए ईसाई धर्मगुरु से राय लेकर इसकी इजाजत दी जा सकती है. इसके बाद इस मामले को लेकर अधिकारी फादर सीजू जार्ज के पास पहुंचें तो उन्होंने स्वर्गीय पॉल की इच्छा और उनके परिवार की संवेदनाओं को देखते हुए जॉली पॉल की मांग को सहमति प्रदान कर दी. इसके बाद जिलाधिकारी के आदेश पर एसडीएम सदर और चिकित्साधिकारी की उपस्थिति में कब्र से शव को खुदवाकर उसके अवशेष सील बंद पालीथीन में जौली पॉल को सौंप दिए गए. ताकि वह अपने मूल निवास केरल में जाकर अपने पति को वहां के कब्रिस्तान में उनकी इच्छानुसार दफन कर सकें.

-भारत एक्सप्रेस

Also Read