दुनिया की सारी समस्या का समाधान भारतीय दर्शन में: मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि विगत दिवस भोपाल में हुई जी-20 के अंतर्गत थिंक 20 बैठक में विदेशों से आये प्रतिनिधियों से कहा कि दुनिया की सारी समस्या का समाधान हमारे भारतीय दर्शन में है.

mp cm shivraj singh chouhan

एमपी सीएम शिवराज सिंह चौहान

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि संत शिरोमणि स्वामी रामानंद ने विश्व में सामाजिक समरसता का पाठ, मानव समाज में भक्ति एवं ज्ञान का प्रकाश फैलाने का कार्य किया है. मुख्यमंत्री चौहान ने अदिति लॉन जबलपुर में पूज्य आद्य रामानंदाचार्य की 723 वीं जयंती एवं पूज्य जगतगुरू सुखानंद द्वाराचार्य स्वामी राघव देवाचार्य के जन्मोत्सव कार्यक्रम में उक्त विचार व्यक्त किये.

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि आज का दिन पवित्र है यह सुखद संयोग है कि आज दोनों विभूतियों का प्राकट्य दिवस है. भगवान् प्राप्ति के अनेक मार्ग ऋषि, मुनियों ने बताए है जिसमें भक्तिमार्ग में जो आनंद है वह अपने आप में अद्भुत है. उनके 12 शिष्यों कबीरदास, रैदास, संत पीपा महाराज, अनंतानंद, सुखानन्द, धन्ना, सेनाचार्य, पदमावती, भावानंद, नाभादास, सुरसुरी, नरहरयानंद थे. जिन्होंने अपने संदेशों से विश्व जगत को बदलने का कार्य किया है. अपने संदेशो में उन्होंने बताया कि सभी में भगवान का वास है. कोई भी छोटा या बड़ा नहीं है. जातिगत भेदभाव को मिटाने का बीड़ा इन्होंने उठाया.

mp cm shivraj singh chouhan

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि विगत दिवस भोपाल में हुई जी-20 के अंतर्गत थिंक 20 बैठक में विदेशों से आये प्रतिनिधियों से कहा कि दुनिया की सारी समस्या का समाधान हमारे भारतीय दर्शन में है. हम वसुधैव कुटुम्बकम की अवधारणा एवं विश्व के कल्याण का भाव रखने वाले लोग हैं. भारतीय दर्शन में प्रकृति, पशु-प्राणियों, नदियों एवं पहाड़ों की पूजा करने का चिंतन भी शामिल है. इन्हीं संदेशों एवं विचारों  को जीवंत बना कर इस परम्परा को आगे बढ़ाने का कार्य स्वामी राघव देवाचार्य द्वारा किया जा रहा है. उनके मन में यह भाव है कि सभी के सहयोग से हम जबलपुर को उस मुकाम पर ले जायें, जहाँ पूरी दुनिया देखे की यह संस्कारधानी है.

कार्यक्रम में मुख्यमंत्री चौहान को आद्य गुरू रामानंदाचार्य अलंकरण से सम्मानित किया गया. मुख्यमंत्री चौहान ने स्वामी राघव देवाचार्य का पूजन अर्चन कर आशीर्वाद प्राप्त किया. जगतगुरू स्वामी राघव देवाचार्य ने भी आशीर्वचन दिये.

कार्यक्रम में डॉ. नीलम दुबे द्वारा लिखी गई किताब स्वामी विवेकानंद का दार्शनिक चिंतन का विमोचन किया गया. मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम में मौजूद संतों से भेंट की. केन्द्रीय इस्पात राज्य मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते और सांसद राकेश सिंह ने भी संबोधित किया. लोक निर्माण विभाग एवं जिले के प्रभारी मंत्री गोपाल भार्गव, विधायक अशोक रोहाणी सहित अन्य विशिष्टजन, जन-प्रतिनिधि एवं बड़ी संख्या में श्रद्धालु मौजूद रहे.

-भारत एक्सप्रेस

Also Read