Rajasthan: पेपर लीक मामले में मास्टरमाइंड को पकड़ें, छोटे-मोटे दलालों को नहीं- सचिन पायलट का अपनी ही सरकार पर निशाना

Rajasthan Paper Leak: कांग्रेस नेता ने कहा कि अब जब गांव का युवा विपरीत परिस्थितियों में पढ़कर परीक्षा देता है तो पेपर लीक के मामले सामने आने से वाकई दुख होता है.

sachin pilot

कांग्रेस नेता सचिन पायलट (फोटो-IANS)

Sachin Pilot: राजस्थान कांग्रेस के दिग्गज नेता सचिन पायलट सोमवार से पांच दिनों के दौरे पर हैं. इस दौरान वे अलग-अलग स्थानों पर किसान सम्मेलन को संबोधित करेंगे. कांग्रेस नेता ने नागौर के परबतसर में सोमवार को किसान सम्मेलन को संबोधित किया. इस दौरान उन्होंने राजस्थान पेपर लीक मामले को लेकर अशोक गहलोत सरकार को जमकर घेरा. पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट ने कहा कि पेपर लीक के मास्टरमाइंड को गिरफ्तार किया जाना चाहिए न कि छोटे दलालों को.

पेपर लीक को लेकर गहलोत सरकार को घेरा

नागौर के परबतसर में विशाल जनसभा को संबोधित करते हुए सचिन पायलट ने कहा, “हम युवाओं के भविष्य के बारे में चिंतित हैं. जब भी मैं यह खबर पढ़ता हूं कि हमारे राज्य में पेपर लीक हो गए हैं, या परीक्षा रद्द कर दी गई है, तो मुझे दर्द होता है.” सचिन पायलट ने कहा, “गांव का कोई युवक अगर किसी परीक्षा की तैयारी करता है तो उसके माता-पिता को कितनी परेशानी का सामना करना पड़ता है. ट्यूशन का पैसा कहां से आता है, किताबों का पैसा कहां से आता है? वह दिन-रात मेहनत करता है, विपरीत परिस्थितियों में परीक्षा की तैयारी करता है.”

कांग्रेस नेता ने कहा कि अब जब गांव का युवा विपरीत परिस्थितियों में पढ़कर परीक्षा देता है तो पेपर लीक के मामले सामने आने से वाकई दुख होता है. उन्होंने आगे कहा, “मुझे उम्मीद है कि मामूली दलाली वसूलने वालों के बजाय गिरोह का मास्टरमाइंड पकड़ा जाएगा.”

ये भी पढ़ें: BJP: 2023 के विधानसभा चुनावों के लिए भाजपा ने कसी कमर, रविशंकर प्रसाद का दावा- 9 राज्यों में जीत दर्ज करेगी बीजेपी
पायलट ने आगे कहा, “2013 के चुनाव में कांग्रेस के 21 विधायक रह गए थे, बीजेपी ने 163 सीटें जीती थीं. पांच साल से मेरी कोशिश थी कि हर कार्यकर्ता तक पहुंच सकूं. पांच साल में पदयात्रा, घेराव किया. हमने धरना दिया, लाठियां खाईं. हमने तत्कालीन मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के क्षेत्र में बारां से झालावाड़ तक किसान न्याय यात्रा निकाली. मेरे दौरे के बाद वसुंधरा राजे को किसानों की मांगें माननी पड़ीं.”

केंद्र सरकार पर साधा निशाना

वहीं उन्होंने केंद्र सरकार को आड़े हाथ लेते हुए कहा कि वह (सरकार) किसानों के सामने झुक गई, लेकिन किसानों का आंदोलन खत्म होने के बाद भी उनकी मांगों को अभी तक पूरा नहीं किया, इसलिए हम किसान सम्मेलन के माध्यम से केंद्र से मांग करते हैं कि एमएसपी पर फसल खरीदने का कानून बनाया जाए.

सचिन पायलट और सीएम अशोक गहलोत के बीच पिछले कुछ समय से खींचतान की खबरें आती रही हैं. दोनों खेमों के बीच टकराव के कारण कई बार सरकार पर संकट बन आया है. वहीं सचिन पायलट के राज्य के हालिया दौरे के बाद एक बार फिर सियासत गरमाती नजर आ रही है.

-भारत एक्सप्रेस

Also Read