Lucknow News: अब ATM से निकलेगा गेहूं-चावल, घटतौली से मिलेगी राहत, राजधानी में शुरू हुआ पहला ग्रेन एटीएम

Grain ATM: प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत देश भर में करीब 9 जगहों पर ग्रेन एटीएम लगाया गया है. यूपी में लखनऊ के साथ ही गोरखपुर और वाराणसी में भी इस एटीएम के जरिए लोग अनाज प्राप्त कर रहे हैं.

ग्रेन एटीएम से अनाज निकालता शख्स (लाल घेरे में) वीडियो ग्रैब

Grain ATM: अब उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में मुफ्त राशन पाने के लिए दुकानों पर लोगों को लम्बी लाइन नहीं लगानी पड़ेगी और न ही घटतौली की शिकार होना पड़ेगा. अब एटीएम से ठीक उसी तरह अनाज निकलेगा, जैसे पैसा निकलता है. कुल मिलाकर लोगों को इससे जल्दी राशन मिलेगा और समय की बचत होगी. इस एटीएम को अन्नपूर्ति एटीएम का नाम दिया गया है. इसी तरह प्रदेश के अन्य हिस्सों में भी जल्द से जल्द ग्रेन एटीएम लगेंगे. यह योगी सरकार की पायलट योजना है.

बता दें कि लखनऊ में पहले ग्रेन एटीएम का शुभारम्भ 17 मार्च को लखनऊ के हसमगंज में किया गया है. यहां राशन विक्रेता पंकज गिरि के यहां ग्रेन एटीएम लगाया गया है. उनका कहना है कि इस एटीएम के लगने के बाद से जो दुकान के बाहर लोगों की लम्बी-लम्बी लाइन लग जाती थी, अब वो नहीं लगेगी. लोगों को इससे जल्दी अनाज मिल सकेगा.

बता दें कि यूपी में इससे पहले वारणसी और गोरखपुर में भी ग्रेन एटीएम लगाया गया है. देश भर में करीब 9 जगहों पर ग्रेन एटीएम अब तक लगाए गए हैं. प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना (PMGKAY) देशभर में संचालित की जा रही है और इसका लाभ 80 करोड़ से ज्यादा लोगों को मिल रहा है. योजना के तहत राशन कार्ड पर यूनिट के हिसाब से प्रति यूनिट पर 5 किलो गेहूं और चावल दिया जाता है. इस तरह यदि परिवार में 3 सदस्य हैं तो 15 किलो गेहूं और चावल प्रति माह दिया जा रहा है. राशन वितरण में घटतौली होने और लाभार्थी को राशन की मात्रा कम मिलने की शिकायतों को रोकने के लिए सरकार ग्रेन एटीएम लेकर आई है.

पढ़े इसे भी- Umesh Pal Murder Case: नैनी जेल में पड़ा छापा, माफिया अतीक के बेटे की बैरक में एक घंटे चला तलाशी अभियान

अब घटतौली से नहीं परेशान होंगे ग्राहक

लखनऊ में पहले ‘ग्रेन एटीएम’ की शुरुआत पर जिलापूर्ति अधिकारी सुनील सिंह ने कहा कि अभी तक उपभोक्ताओं को तराजू से तौलकर चावल, गेहूं आदि दिए जाते थे जिससे घटतौली की तमाम शिकायतें सामने आती थीं. ग्राहक हमेशा आरोप लगाते थे कि उनको अनाज कम दिया गया है, लेकिन अब ग्रेन एटीएम के माध्यम से उपभोक्ताओं को राशन वितरित करने का काम किया जाएगा. एक उपभोक्ता ने बताया कि पहले जो राशन कम मिलता था उसकी भी शिकायत नहीं आएगी.

एक की कीमत 12-15 लाख रुपये

जिलापूर्ति अधिकारी ने आगे जानकारी दी कि पूरे देश में केवल 9 ऐसे ATM लगे हैं, जिसमें से उत्तर प्रदेश के वाराणसी, गोरखपुर और लखनऊ में 1-1 ATM लगाया गया है. इसके लगने के बाद घटतौली की शिकायतों में कमी आएगी. उन्होंने कहा कि अभी यह भारत में पायलट प्रोजेक्ट के रूप में शुरू हुआ है. सफलता के बाद इसे हर शहर में और हर कोटेदार के यहां लगाया जा सकता है. उन्होंने कहा कि एक ग्रेन एटीएम की कीमत 12-15 लाख रुपए आ रही है.

-भारत एक्सप्रेस

 

Also Read