देवरानी, जेठानी, मंजली और संजली को भी मिलेगा लाड़ली बहना योजना का लाभ- सीएम शिवराज सिंह चौहान

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि लाड़ली बहना योजना के आवेदन भरने के लिए मेरी बहनों को धूप में नहीं जाने दिया जाएगा।

shivraj singh chouhan

एमपी के सीएम शिवराज सिंह चौहान

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने खरगोन की बहनों से कहा कि आज बड़ा सौभाग्य का दिन है। उन्होंने कहा कि अपनी बहनों से मिलने उनका भैया आया है। खरगोन में बेटा-बेटी के बीच भेद नहीं किया जाता है। मैंने मेरी बहनों का मान कम होता देखा तो पुरुषों के समान स्थान दिलाने के प्रयास किये हैं। पहले लाड़ली लक्ष्मी योजना, फिर माता-पिता को उनकी शादी का खर्च कम करने के लिए कन्या विवाह योजना प्रारम्भ की। इसके बाद अब मैंने मेरी बहनों की आर्थिक हालात सुधारने और छोटी-छोटी जरूरतों को पूरा करने में मदद के उद्देश्य से लाड़ली बहना योजना लागू की है।

सीएम ने कहा कि योजना में देवरानी हो या जेठानी या मंजली या हो संजली सबको 1-1 हजार रुपये हर माह दिये जाएंगे। इस तरह तुम्हारा भैया पूरे 12 महीने बहनाओं के साथ रहेगा। मुख्यमंत्री चौहान आज खरगोन जिले के अनकवाड़ी में लाडली बहना योजना और पेसा नियम जागरूकता सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे।

राज्य शासन बनवायेगा प्रमाण पत्र, 25 मार्च से भरे जाएंगे आवेदन

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि लाड़ली बहना योजना के आवेदन भरने के लिए मेरी बहनों को धूप में नहीं जाने दिया जाएगा। आगामी 25 मार्च से गाँव-गाँव और नगरों के हर वार्ड में आवेदन भरे जाएंगे। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि जब तक गाँव की एक-एक पात्र बहन का आवेदन नहीं भर दिया जाता तब तक शिविर उसी गाँव में लगा रहेगा। अप्रैल तक फार्म भरे जायेंगे, मई में जाँच होगी और 10 जून से खाते में पैसा आएगा।

कार्यक्रम में पूर्व राज्य कृषि मंत्री बालकृष्ण पाटीदार, पूर्व विद्यायक बाबूलाल महाजन, आत्माराम पटेल, धूल सिंह डावर और जिला पंचायत उपाध्यक्ष बापूसिंह परिहार, खरगोन नपा अध्यक्ष छाया जोशी, उपाध्यक्ष भोलू कर्मा सहित अन्य जन-प्रतिनिधि और वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी मौजूद रहे। संचालन राजकुमार शर्मा और अमित वर्मा ने किया।

कनिका और दिव्यांश का होगा उपचार तो मनोज लगाएगा उद्योग

कार्यक्रम में मुख्यमंत्री चौहान ने उत्कृष्ट कार्य करने वाले अधिकारी कर्मचारियों का सम्मान किया। उन्होंने विभिन्न हितग्राहियों को हितलाभ स्वीकृति पत्र भी सौंपे। मुख्यमंत्री चौहान ने मुख्यमंत्री बाल ह्रदय उपचार योजना में  कनिका और दिव्यांश के उपचार के लिए क्रमशः 1.41 और 1.50 लाख रुपये के स्वीकृति प्रदान किये। इसके अलावा भगवानपुरा की आदिवासी मत्स्य सहकारी संस्था को 86 लाख 40 हजार रुपये का स्वीकृति पत्र प्रदान किया। मुख्यमंत्री चौहान ने मनोज प्रजापति को प्रधानमंत्री सूक्ष्म खाद्य उद्यम उन्नयन योजना में उद्योग लगाने के लिए 10 लाख रूपये का स्वीकृति-पत्र प्रदान किया।

साथ ही पिपल्याबावड़ी की सलिताबाई को किसान क्रेडिट कार्ड योजना में 3 लाख रूपये, रेशमीबाई बालू को 2 लाख रुपये की अनुग्रह सहायता, प्रेमलता चौहान को 155 स्व-सहायता समूह के बैंक लिंकेज के 418 लाख 53 हजार रूपये, चंद्रकांत जैन को गरम मसाले का स्व-रोजगार स्थापित करने के लिए 2 लाख रूपये, पुष्पा सांवले को राज्य सिविल सेवा प्रोत्साहन के लिए 20 हजार रुपए, भुवान सिंह सिसोदिया को भगवान बिरसा मुंडा स्व-रोजगार योजना में 1 लाख 70 हजार और बनहेर के अजय यादव को रैपर कम बाइंडर के लिए 2 लाख 50 हजार रुपये के स्वीकृति-पत्र प्रदान किये गए।

मुख्यमंत्री चौहान को जिला सहकारी बैंक के प्रबंधक संचालक राजेन्द्र आचार्य ने बैंक की अंशपूँजी 87 लाख रुपये का चेक प्रदान किया। मुख्यमंत्री चौहान ने ग्रामीण विकास अंतर्गत संचालित योजनाओं में उत्कृष्ट कार्य करने पर भगवानपुरा जनपद सीईओ पवन शाह को प्रशस्ति-पत्र दिया। वृक्षारोपण कार्य के लिए ग्राम पंचायत ठीबगाँव बुजुर्ग के रोजगार सहायक महेन्द्र यादव और भगवानपुरा तहसील के पटवारी योगेश पाटीदार को सीएम हेल्पालाइन, लेण्ड रिकार्ड लिंकिंग, सीएम किसान सत्यापन में शत-प्रतिशत और ई-केवायसी में 98 प्रतिशत कार्य करने पर प्रशस्ति-पत्र सौंपा गया। मुख्यमंत्री चौहान ने 68 करोड़ 77 लाख के विकास कार्यों का लोकार्पण और 171 करोड़ 40 लाख रूपये के विकास कार्यों के शिलान्यास किए।

क्षेत्रीय सांसद गजेंद्र सिंह पटेल ने बिस्टान उद्वहन सिंचाई परियोजना का नाम संत बोन्दरूबाबा, बिस्टान को तहसील का दर्जा देने, श्रीखण्डी गाँव के स्कूल हाई स्कूल का हायर सेकेंडरी में उन्नयन, बरूड में रघुनाथ मंडलोई की प्रतिमा लगाने सहित अन्य प्रस्ताव रखे।

-भारत एक्सप्रेस

Also Read