Indresh kumar: राहुल गांधी को भगवान सद्बुद्धि दें, वो अपनी विचारधारा से न कांग्रेस के रहे न भगवान राम के, RSS लीडर ने बोला हमला

Indresh kumar: इंद्रेश कुमार ने कहा कि,”राहुल गांधी को भगवान सद्बुद्धि दें वह भारत को जोड़ते-जोड़ते कांग्रेस को भी तोड़ने में लग गए हैं. उन्होंने आगे कहा कि राहुल ने कांग्रेसियों से भगवान श्री राम को भी छीन लिया”.

indres kumar

आरएसएस (RSS) लीडर इंद्रेश कुमार

Indresh kumar Statement: राहुल गांधी भारत जोड़ो यात्रा के दौरान लगातार आरएसएस (RSS) पर हमला बोल रहे हैं. इस सिलसिले में अब मुस्लिम राष्ट्रीय  मंच के संरक्षक और आरएसएस (RSS) लीडर इंद्रेश कुमार ने राहुल गांधी पर करारा हमला बोला है. उन्होंने अपने जौनपुर दौरे पर मीडिया से बात करते हुए कहा कि,”कांग्रेस के युवराज राहुल गांधी को भगवान सद्बुद्धि दें वे भारत को जोड़ते-जोड़ते कांग्रेस को भी तोड़ने में लग गए हैं. उन्होंने आगे कहा कि राहुल ने कांग्रेसियों से भगवान श्री राम को भी छीन लिया. ऐसे में जो विचारधारा वो लेकर चल रहे हैं. उससे वो न कांग्रेस के रहे और न ही भगवान श्री राम के रहे”.

इस दौरान इंद्रेश कुमार ने कई मुद्दों पर बात की. उन्होंने कॉमन सिविल कोड पर कहा कि,”देश का संविधान एक है तो हमें संविधान के जरिए अपने धर्म के प्रति कार्य करने से कोई रोकता नहीं”.

‘सियासी फायदे के लिए मुसलमानों को भड़काने की कोशिश’

इंद्रेश कुमार से जब कॉमन सिविल कोड पर सवाल किया गया तो उन्होंने कहा कि,” देश का संविधान एक है तो हमें संविधान के जरिए अपने धर्म के प्रति कार्य करने से कोई रोकता नहीं. ऐसे में कुछ सियासी पार्टी अपने फायदे के लिए मुसलमानों को भड़काने में लगी हैं. यहां सबको आजादी है ऐसे में एक संविधान एक कानून होगा तो देश तरक्की करेगा.

ये भी पढ़ें-   Madhya Pradesh: कान खोल के सुन लें, सबका हिसाब लिया जाएगा- भरे मंच से कमलनाथ की अधिकारियों को धमकी!

‘मुसलमान ही मुसलमान से हारा’

ट्रिपल तलाक पर उन्होंने कहा कि कानून देश की संसद में पास हुआ तो इसके खिलाफ मुस्लिम लोग ही सुप्रीम कोर्ट गए. लेकिन वहां भी इस कानून को सही ठहराया गया. ऐसे में मुसलमान ही मुसलमान से हारा है. इसमें सरकार और पार्टी या संघ का कोई लेना देना नहीं है. मुस्लिम महिलाओं को हक दिलाने की आवाज मुस्लिम महिलाओं ने ही उठाई थी ऐसे में सरकार ने इस कानून को पास कराकर उनके साथ हो रहे उत्पीड़न पर रोक लगाने का काम किया. जैसे हिन्दू धर्म में सदियों पहले सती प्रथा रोक कर महिलाओं को इंसाफ दिया गया उसी प्रकार ट्रिपल तलाक कानून से मुस्लिम महिलाओं का उत्पीड़न रूका जो धर्म की आड़ में कुछ लोग करते थे.

इंद्रेश कुमार ने कहा कि आज देश के सोलह करोड़ मुस्लिम समाज आजादी के साथ अपना जीवन व्यतीत कर रहा है और देश की मुख्य धारा से जुड़ कर देश की उन्नति में जुटा है पर कुछ राजनीतिक दल उन्हें खौफ दिलाकर अपने वोटों की खातिर बरगलाने का काम कर रहे हैं उनसे सतर्क रहने की जरूरत है.

– भारत एक्सप्रेस

 

Also Read