Lucknow building collapse: 4 मंजिला इमारत के मलबे में निकाले गए 14 लोग, अवैध बिल्डिंग का नक्शा नहीं था पास

Lucknow building collapse: उपमुख्यमंत्री ने कहा कि घटनास्थल पर स्वास्थ्य विभाग की कई टीमे लगाई गई हैं. जो घायलों को अस्पताल पहुंचाने में मदद कर रही हैं.

Lucknow building collapse

लखनऊ में इमारत ढही (फोटो- IANS)

Lucknow building collapse: उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के वजीर हसनगंज रोड स्थित चार मंजिला अलाया अपार्टमेंट मंगलवार रात को अचानक गिर गया, इस हादसे में अभी कई लोगों के दबे होने की सूचना है. प्रशासन द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक,  अभी तक 14 लोगों को बचा लिया गया है. प्रमुख सचिव गृह संजय प्रसाद ने बताया कि राजधानी में देर शाम को एक बिल्डिंग गिर जाने से कई लोग मलबे में दब गए हैं, जिनमे से 14 लोगो को सुरक्षित बचा लिया गया है. उन्होंने बताया कि स्थानीय लोगों की जानकारी के अनुसार बिल्डिंग के मलबे में अभी 6 से 7 लोगों की दबे होने की सूचना है.

कमिश्नर रोशन जैकब ने बताया कि ये अवैध निर्माण इमारत थी जिसका नक्शा पास नहीं हुआ था और ये पुरानी इमारत थी. जांच के लिए जोन की कमेटी बनी हुई है. 1.5 घंटा और बचाव अभियान चलेगा. वहीं स्थानीय लोगों ने बताया कि बिल्डिंग के अंदर बेसमेंट की खुदाई चल रही थी, जिसकी वजह से यह हादसा हुआ है. कुछ लोगों का यह भी कहना है कि भूकंप की वजह से बिल्डिंग में दरार आ गई थी. हालांकि हादसा हुआ किस वजह से अभी यह साफ नहीं है.

lucknow

इमारत गिरने की सूचना मिलने पर मौके पर एसडीआरएफ, एनडीआरएफ और फायर ब्रिगेड की टीमें पहुंच गई, जो बचाव कार्य में जुटी हैं. वहीं हादसे की खबर मिलते ही उपमुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक भी घटनास्थल पर जा पहुंचे. राहत और बचाव कार्य तेजी से चल रहा है और घायलों को अस्पताल पहुंचाया गया. उन्होंने कहा कि घायलों को बचाने की दिशा में तेजी से प्रयास किये जा रहे हैं. जेसीबी से मलबा हटाया जा रहा है. पुलिस, फायर व एनडीआरएफ के जवाब मुस्तैदी से लोगों को जीवित निकालने में जुटे हैं.

राहत व बचाव कार्य तेज

मौके पर पहुंचे उपमुख्यमंत्री ने कहा कि घटनास्थल पर स्वास्थ्य विभाग की कई टीमे लगाई गई हैं. जो घायलों को अस्पताल पहुंचाने में मदद कर रही हैं. आधा दर्जन से अधिक एम्बुलेंस मौके पर लगा दी गई हैं. केजीएमयू व सिविल अस्पताल समेत दूसरे अस्पतालों को गंभीर घायलों को भर्ती करने के निर्देश दिए गए हैं. हर स्थितियों में हम लोग सभी को बचाने में जुटे हैं. हम लोग हर एक को जीवित बचाने में लगे हैं. अत्याधुनिक मशीनों को भी मंगाया गया है.

-भारत एक्सप्रेस

Also Read