India China Army Face Off: तवांग में चीन के साथ झड़प, 300 चीनी सैनिकों को भारतीय जवानों ने खदेड़ा, कई घायल

Indian Chinese troops face off: सूत्रों के मुताबिक, इस झड़प में दोनों ओर से कई जवान घायल हुए हैं. सूत्रों के मुताबिक, ये घटना 9 दिसंबर की है.

india china clash

भारत-चीन तनाव

Indian Chinese troops face off in Tawang: अरुणाचल प्रदेश के तवांग में भारत और चीन के सैनिकों के बीच झड़प की खबर सामने आ रही है. सूत्रों के मुताबिक, इस झड़प में दोनों ओर से कई जवान घायल हुए हैं. सूत्रों के मुताबिक, ये घटना 9 दिसंबर की है.

जानकारी के मुताबिक, करीब 300 चीनी सैनिक एक पोस्ट की तरफ बढ़ने की कोशिश कर रहे थे लेकिन भारतीय जवान पूरी तरह तैयार थे और उन्होंने चीन की पीएलए के मंसूबों को नाकाम करते हुए उन्हें खदेड़ दिया. सूत्रों के मुताबिक, इस झड़प में भारत से ज्यादा चीन के सैनिक घायल हुए हैं.

भारतीय सेना ने दिया मुंहतोड़ जवाब

सूत्रों के मुताबिक, संघर्ष के तुरंत बाद दोनों तरफ के जवान इलाके से पीछे हट गए. चीनी पीएलए सैनिकों की संख्या लगभग 300 थी जो भारी तैयारी के साथ आए थे, उन्हें उम्मीद नहीं थी कि उनका सामना करने के लिए भारतीय सैनिक पूरी तरह से तैयार होंगे.

जानकारी के मुताबिक, अरुणाचल प्रदेश के तवांग सेक्टर में LAC पर चीनी सैनिकों के साथ झड़प में घायल हुए भारतीय सैनिकों को असम के गुवाहाटी में एक सैन्य अस्पताल में भर्ती कराया गया है. वहीं, इस घटना के बाद भारतीय सेना के कमांडर और चीनी कमांडर ने निर्धारित प्रक्रिया के अनुसार फ्लैग मीटिंग की ताकि इलाके में शांति बहाल की जा सके. चीन पहले भी इस तरह की हिमाकत करता रहा है लेकिन भारतीय सेना उनके मंसूबों को नाकाम करती रही है.

ये भी पढ़ें: Money Laundering Case: नोरा फतेही ने जैकलीन फर्नांडिस पर ठोका मानहानि का मुकदमा, कहा- महाठग सुकेश जंग जबरन जोड़ा गया मेरा नाम

ये भी पढ़ें: Twitter पर जल्द ही निबंध लिख पाएंगे आप! Elon Musk ने कन्फर्म किया- जल्द ही वर्ड लिमिट होगी 4000

ओवैसी ने सरकार को घेरा

दूसरी तरफ, इस झड़प की रिपोर्ट के आते ही इस पर सियासत शुरू हो गयी है. एआईएमआईएम चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने झड़प की रिपोर्ट का हवाला देते हुए सरकार पर निशाना साधा है. उन्होंने कहा कि अरुणाचल प्रदेश से आ रही खबरें चिंताजनक हैं. भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच झड़प हुई और सरकार ने देश को कई दिनों तक अंधेरे में रखा. जब संसद का सत्र चल रहा है, तब इसके बारे में जानकारी क्यों नहीं दी गई?

-भारत एक्सप्रेस

Also Read