Gujrat Election: पिता नरोदा पाटिया दंगे का दोषी, BJP ने बेटी को बनाया अपना उम्मीदवार

बीजेपी ने नरोदा से डॉक्टर पायल कुकरानी को टिकट दिया

गुजरात विधानसभा चुनाव में बीजेपी ने गुजरात दंगों के नरोदा पाटिया नरसंहार मामले के एक दोषी की बेटी को टिकट दिया है. वह नरोदा सीट से चुनाव लड़ेंगी. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक बीजेपी ने नरोदा से डॉक्टर पायल कुकरानी को टिकट दिया है. पायल के पिता मनोज नरोदा पाटिया दंगे के दोषी हैं. जिन्हें आजीवन कारावास की सजा सुनाई गई थी और बाद में स्वास्थ्य के आधार पर जमानत दे दी गई थी. फिलहाल वे जेल से बाहर हैं.

कांग्रेस ने बीजेपी के इस फैसले को लेकर सवाल उठाया है. कांग्रेस का कहना है कि बीजेपी ने नरोदा पाटिया दंगे के आरोपी की बेटी को टिकट देकर शर्मनाक फैसला लिया है. बीते गुरुवार यानि कि 10 नवंबर को बीजेपी ने को इसकी घोषणा की थी.

बता दें कि बीजेपी की महिला उम्मीदवारों में पायल सबसे युवा और काफी पढ़ी लिखी उम्मीदवार हैं. उन्होंने रूस से डॉक्टर ऑफ मेडिसिन (एनीस्थीसिया) की पढ़ाई की है.

बीजेपी से टिकट मिलने के बाद पायल ने कहा, ‘मुझे बेहद खुशी है कि पार्टी ने मुझ पर भरोसा दिखाया और मुझे टिकट दिया. मेरे पिता ने पार्टी को अपने 40 साल दिए हैं. मेरी मां पार्षद हैं. शिक्षा पूरी करने के बाद मैंने अपनी मां के चुनाव प्रचार में भी हिस्सा लिया था. मैंने डोर टू डोर कैंपेन में भी हिस्सा लिया है. मुझे चुनाव जीतने का पूरा भरोसा है. मैं भारी अंतर से जीतूंगी. मैं केवल और केवल प्रगति और विकास की दिशा में काम करूंगी.’

नरोदा पाटिया घटना 28 फरवरी, 2002 को हुई थी. जहां दंगाई भीड़ द्वारा 97 लोगों की हत्या कर दी गई थी.बता दें कि ये घटना सामूहिक हत्या का सबसे बड़ा मामला बताया जाता हैं. जहां गोधरा में साबरमती एक्सप्रेस ट्रेन के एस-6 कोच को जलाने के बाद हुआ था, जिसमें 59 लोग मारे गए थे, जिनमें ज्यादातर अयोध्या से लौट रहे थे.

-भारत एक्सप्रेस

Also Read