Earthquake: अफगानिस्तान-पाकिस्तान में भूकंप ने मचाई भारी तबाही, 20 से ज्यादा लोगों की मौत, 160 से अधिक घायल

Afghanistan Earthquake: अफगानिस्तान के अलावा पाकिस्तान, भारत, तुर्कमेनिस्तान, कजाकिस्तान, ताजिकिस्तान, उज्बेकिस्तान, चीन और किर्गिस्तान में भी भूकंप के झटके महसूस किए गए.

earthquake

दहशत में घरों से बाहर निकले लोग

Earthquake: अफगानिस्तान के हिंदुकुश क्षेत्र में कल मंगलवार 21 मार्च की रात को धरती इतनी तेज कांपी की पाकिस्तान के अलावा भारत तक इसके झटके महसूस किए गए. अफगानिस्तान में आए इस भूकंप की तीव्रता 6.5 बताई जा रही है. अफगानिस्तान के साथ-साथ पाकिस्तान और भारत तक महसूस किए गए. पाकिस्तान और अफगानिस्तान में भूकंप के कारण जानमाल का भारी नुकसान भी हुआ है.

21 लोगों की हुई मौैत

अफगानिस्तान में आए इस भूकंप से कई लोगों की जानें चली गई हैं. बताया जा रहा है कि इससे अफगानिस्तान में जहां 10 लोगों की मौत हुई हैं वहीं पाकिस्तान से भी 11 लोगों के मरने की खबर है. इनमें 2 महिलाएं भी हैं. इसके अलावा पाकिस्तान में 160 लोग भूकंप की वजह से जख्मी भी हुए हैं.

सतह से 187 था भूकंप का केंद्र

अफगानिस्तान में आए इस भूकंप को लेकर यूएस जियोलॉजिकल सर्वे का कहना था कि भूकंप का सतह से 187 किमी नीचे उत्पन्न हुआ था. हालांकि अब तक आए भूकंप 100 किमी उससे कम की गहराई पर के लगे रहे. ऐसे में यह भूकंप ज्यादा तीव्र रहा.

दहशत में लोग

शक्तिशाली भूकंप रात 10 बजकर 17 मिनट पर आया. हालांकि भारत में जान-माल के नुकसान की फिलहाल कोई सूचना नहीं मिली है. भूकंप के झटकों के बाद दहशत में लोग घरों से बाहर निकल आए.

उत्तराखंड और दिल्ली में घरों से बाहर निकले लोग

उत्तरकाशी और चमोली ​सहित उत्तराखंड के कई स्थानों पर भी झटके महसूस किए गए. झटकों के बाद पूर्वी दिल्ली के शकरपुर में लोग घरों से बाहर निकल गए. कुछ लोगों ने दावा किया कि एक इमारत झुक गई, लेकिन यह सूचना गलत निकली. अधिकारियों ने कहा कि एक इमारत के झुकने के बारे में सूचना के बाद दमकल की दो गाड़ियों को दक्षिण-पूर्वी दिल्ली के जामिया नगर में भेजा गया.

नोएडा के एक निवासी ने कहा कि उसने सबसे पहले डाइनिंग टेबल को हिलते हुए देखा. नोएडा में हाइड पार्क सोसाइटी के निवासी ने कहा, ‘‘इसके तुरंत बाद हमने देखा कि पंखे भी हिल रहे थे. भूकंप की तीव्रता काफी तेज थी और काफी देर तक झटके महसूस हुए.’’

हिमाचल प्रदेश में फिर महसूस किए गए भूकंप के झटके

हिमाचल प्रदेश के किन्नौर में मंगलवार देर रात 12 बजकर 51 मिनट पर 2.8 तीव्रता के भूकंप के झटके महसूस किए गए. हालांकि, भूकंप से किसी तरह के जानमाल के नुकसान की कोई खबर नहीं है. इससे पहले, मंगलवार रात 10 बजकर 17 मिनट पर राज्य में 6.6 की तीव्रता के भूकंप के झटके महसूस किए गए थे, जिसका केंद्र अफगानिस्तान के हिंदू कुश क्षेत्र में 156 किलोमीटर की गहराई में था. शिमला, मंडी और कई अन्य स्थानों पर लोग डरकर अपने घरों से बाहर निकल आए, लेकिन अभी तक किसी भी तरह के जानमाल के नुकसान की कोई खबर नहीं है.

जब हिलने लगी कार

गाजियाबाद की रहने वाली इंदरजीत कौर ने कहा, ‘हमने करीब 30 सेकंड तक झटके महसूस किए और हम अपने घर से बाहर निकल आए.’ दिल्ली में एक कैब मालिक ने कहा कि जब वह यात्रियों का इंतजार कर रहा था तो उसने भूकंप महसूस किया. मध्य दिल्ली में कनॉट प्लेस के पास मौजूद कैब मालिक रमेश पवार ने कहा, ‘‘मैं यात्रियों का इंतजार कर रहा था और अचानक मेरी कार हिलने लगी.

मैंने तुरंत अपने दोस्तों को इसके बारे में बताया.’’ दक्षिणी दिल्ली के लाजपत नगर की रहने वाली ज्योति ने कहा कि वह टेलीविजन देख रही थी, तभी अचानक उसने देखा कि टीवी और सोफा हिल रहे हैं. शुरू में ज्योति ने इसे नजरअंदाज किया लेकिन जब उनके पति ने भी भूकंप के बारे में कहा तो वह और उनके परिवार के सदस्य अपने घर से बाहर निकल गए.

इसे भी पढ़ें: दिल्ली-NCR समेत पूरे उत्तर भारत में भूकंप के तेज झटके, बहुत देर तक हिलती रही धरती, घरों से बाहर निकले लोग

इन देशों में महसूस किए गए भूकंप के झटके

अंतरराष्ट्रीय भूकंपीय केंद्र के मुताबिक, पाकिस्तान के अलावा भारत, अफगानिस्तान, तुर्कमेनिस्तान, कजाकिस्तान, ताजिकिस्तान, उज्बेकिस्तान, चीन और किर्गिस्तान में भी भूकंप के झटके महसूस किए गए. पाकिस्तान में अक्सर भूकंप आते रहते हैं. इस साल जनवरी में इस्लामाबाद में 6.3 तीव्रता का भूकंप आया था. देश में 2005 में ज्ञात इतिहास का सबसे भीषण भूकंप आया था, जिसमें 74,000 से अधिक लोग मारे गए थे.

Also Read