Delhi: दिल्ली में भलस्वा डेयरी में रेड के बाद हैंड ग्रेनेड बरामद, संदिग्धों की निशानदेही पर हुई थी छापेमारी

Delhi Police: जानकारी के मुताबिक, दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल को जहांगीरपुरी में संदिग्धों के छिपे होने की सूचना मिली थी.

Delhi Police

भलस्वा डेयरी में दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने देर रात की छापेमारी (फोटो- ANI)

Delhi Police: दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने भलस्वा डेयरी में देर रात छापेमारी की. यह छापेमारी जहांगीरपुरी के फ्लैट से UAPA के तहत गिरफ्तार किए गए नौशाद और जगजीत सिंह से पूछताछ के बाद की गई. स्पेशल सेल ने देर रात एफएसएल की टीम को मौके पर बुलाया, जिसने भलस्वा डेयरी के इस घर से खून के सैंपल लिए. वहीं जिस घर में रेड हुई वहां से दो हैंड ग्रेनेड भी बरामद हुए हैं.

मौके से हथियार भी बरामद

जानकारी के मुताबिक, दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल को जहांगीरपुरी में संदिग्धों के छिपे होने की सूचना मिली थी, जिसके बाद नौशाद और जगजीत सिंह को पुलिस ने दबोचा. दोनों संदिग्धों से पूछताछ के बाद स्पेशल सेल ने देर रात भलस्वा डेयरी में छापेमारी की. यहां पुलिस को घर की दीवारों पर खून के निशान भी मिले. स्पेशल सेल ने मौके से हथियार भी बरामद किए.

स्पेशल सेल ने मौके पर एफएसएल की टीम को बुलाया. टीम ने घर से सैंपल लेने शुरू कर दिए. दिल्ली पुलिस की जांच में इस मामले में खालिस्तानी कनेक्शन भी सामने आया है. पुलिस की जांच के मुताबिक, जगजीत सिंह खालिस्तानी हैंडलर्स के संपर्क में था और उसने नौशाद के साथ मिलकर किसी की हत्या को अंजाम दिया था.

ये भी पढ़ें: Santokh Singh Chaudhary: कांग्रेस सांसद संतोख सिंह चौधरी का निधन, भारत जोड़ो यात्रा के दौरान आया हार्ट अटैक

हत्या की गुत्थी सुलझाने में जुटी पुलिस

सूत्रों के मुताबिक, दोनों ने इस घर में किसी शख्स की हत्या करने के बाद उसका वीडियो भी बनाया था और उन्होंने विदेश में बैठे हैंडलर को ये वीडियो भी भेजा था. फिलहाल, पुलिस इस बात का पता लगाने की कोशिश कर रही है कि इस घर में किसकी हत्या की गई है और क्यों की गई है. देर रात छापेमारी के बाद पूरे इलाके में पुलिस तैनात है. 26 जनवरी से पहले हैंड ग्रेनेड मिलने के बाद दिल्ली की पुलिस अलर्ट मोड में आ गई है. वहीं, जिस घर से हैंड ग्रेनेड मिले हैं, उसके आसपास के लोगों का कहना है कि कुछ दिनों पहले ही किराए पर रहने आए थे. पूछने पर उन्होंने बताया था कि उनका मकान बनने के कारण वे लोग यहां किराने पर रहने आए हैं.

-भारत एक्सप्रेस

Also Read