कांग्रेस ने ‘नरेंद्र मोदी स्टेडियम’ का नाम बदलने को लेकर छेड़ी जंग, कहा ‘मोदी कभी सरदार पटेल नहीं बन सकते’

congress narendra modi stadium

नरेंद्र मोदी स्टेडियम का नाम बदलेगी कांग्रेंस

गुजरात विधानसभा चुनाव में कांग्रेस पार्टी ने अपना घोषणा पत्र जारी कर दिया है. कांग्रेस ने इस घोषणा पत्र में जनता के लिए कई बड़े-बड़े वादे किए है. लेकिन इन वादों में एक वादा ऐसा है. जिसने बड़ा विवाद खड़ा कर दिया है. और वो है नरेंद्र मोदी स्टेडियम का नाम बदलना. कांग्रेस पार्टी ने ऐलान किया है कि अगर प्रदेश में कांग्रेस की पार्टी आई तो वो सबसे पहले नरेंद्र मोदी स्टेडियम का नाम बदलकर सरदार वल्लभभाई पटेल स्टेडियम रखेगी. बता दें कि बीजेपी नरेंद्र मोदी स्टेडियम को 2020 में बना कर तैयार किया था. इसका पहले नाम मोटेरा स्टेडियम था.

सरदार पटेल स्टेडियम नाम रखने पर विवाद

एक तरफ कांग्रेस पार्टी ने अपने घोषणा पत्र में नरेंद्र मोदी स्टेडियम का बदलने का ऐलान तो किया ही लेकिन पार्टी के नेता भी इसका काफी विरोध भी कर रहे हैं. कांग्रेस नेता मधुसूदन मिस्त्री एक चैनल से बात करते हुए कहा कि वो कि मोदी कभी पटेल नहीं बन सकते. उन्होंने कहा- इस चुनाव में उन्हें औकात दिख जाएगी. कांग्रेस ने इसके जरिए गुजराती अस्मिता का मुद्दा उठाया है. इसी साल जून में ये खबर भी सामने आई थी कि स्टेडियम का नाम बदलने की मांग को लेकर पाटीदार समुदाय ने एक आंदोलन भी किया था.

वहीं अशोक गहलोत ने एबीपी न्यूज से बता करते हुए कहा कि सरदार पटेल के गांव के लोग उनसे मिले है. हम इसका नाम बदलने के लिए आंदोलन चलाएंगे. नरेंद्र मोदी के नाम पर कहीं और स्टेडियम बना लेते.

बीजेपी ने दी थी सफाई

दरअसल, जब मोटेरा स्टेडियम का नाम बदला गया था. तब भी इसको लेकर काफी विवाद हुआ था. बीजेपी ने कहा था कि हमने केवल मोटेरा स्टेडियम का नाम बदला था जबकि स्पोर्टस कॉम्प्लेक्स का नाम अभी भी सरदार पटेल के नाम पर ही है. 

कांग्रेस ने घोषणा पत्र में दूसरे वादे

कांग्रेस ने अपने घोषणा पत्र में महंगाई का भी जिक्र किया. कांग्रेस ने 500 रुपए में गैंस सिलेंडर उपलब्ध कराने का वादा किया है. वहीं युवाओं के लिए भी इस घोषणा पत्र में काफी कुछ देखने को मिला.पार्टी ने कहा की सत्ता में आने बाद वो सरकारी और अर्ध सरकारी 10 लाख रिक्त पड़े पदों के लिए भर्ती प्रक्रिया पूरी की जाएगी. इसके साथ बेरोजगार युवाओं को 3000 रुपये बेरोजगारी भत्ता भी दिया जाएगा. कांग्रेस ने सत्ता में आने पर 10 लाख युवाओं को सरकारी नौकरी देने का करते हुए कहा है कि इनमें महिलाओं को 50 फीसदी आरक्षण देंगे.

– भारत एक्सप्रेस

 

Also Read