मुख्यमंत्री बाल हृदय उपचार योजना के लाभार्थी बच्चों से सीएम शिवराज सिंह चौहान ने किया संवाद, बच्चों ने कहा- थैंक्यू मामा जी

मुख्यमंत्री ने बच्चों से पूछा कि अब सब ठीक है, इलाज अच्छे से हुआ कि नहीं और अब कोई तकलीफ तो नहीं है। बच्चों ने एक स्वर में “थैंक्यू मामा जी” कहा।

shivraj singh chouhan

बच्चों के बीच एमपी के सीएम शिवराज सिंह चौहान

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि हृदय रोग से लड़ कर जीतने वाले बच्चों के चेहरे पर स्वास्थ्य की मुस्कान देखकर अकल्पनीय आनंद का अनुभव हो रहा है। चौहान आज जबलपुर में जिला प्रशासन, रेडक्रॉस सोसायटी और स्वास्थ्य विभाग द्वारा मेट्रो प्राइम हॉस्पिटल के सामने कुचैनी परिसर में मुख्यमंत्री बाल हृदय उपचार योजना के लाभार्थी बच्चों से सम्वाद कर रहे थे।

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि हृदय रोग से पीड़ित बच्चों को स्वास्थ्य लाभ प्रदान करने में योगदान देने वाले जन-प्रतिनिधि, चिकित्सक औरपैरामेडिकल स्टाफ सभी धन्यवाद के पात्र हैं। हम सभी को ऐसे मानवीय कार्यक्रमों से जुड़ना चाहिए। यही भगवान की असली पूजा है। मुख्यमंत्री ने कन्या-पूजन और दीप प्रज्ज्वलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया।

मुख्यमंत्री ने पूछा, प्यारे बच्चों अब सब ठीक है

मुख्यमंत्री चौहान मंच से सीधे उन बच्चों के बीच पहुँच गए, जो मुख्यमंत्री बाल उपचार योजना के माध्यम से स्वस्थ हो चुके हैं। मुख्यमंत्री ने बच्चों से पूछा कि अब सब ठीक है, इलाज अच्छे से हुआ कि नहीं और अब कोई तकलीफ तो नहीं है। बच्चों ने एक स्वर में “थैंक्यू मामा जी” कहा। बच्चों ने चौहान को खुश होकर जवाब दिये।

मुख्यमंत्री बाल हृदय उपचार योजना में जबलपुर जिले में वर्ष 2021 से अब तक 199 बच्चों के हृदय का निःशुल्क उपचार हुआ है। वहीं मेट्रो प्राइम हॉस्पिटल में योजना में जबलपुर संभाग के करीब 550 बच्चों का उपचार किया गया है।

कार्यक्रम में सांसद राकेश सिंह, राज्य सभा सदस्य सुमित्रा वाल्मीकि, मध्यप्रदेश जन अभियान परिषद के उपाध्यक्ष डॉक्टर जितेंद्र जामदार, विधायक अजय विश्नोई, नन्दिनी मरावी, सुशील तिवारी, अशोक रोहाणी, लखन घनघोरिया और विनय सक्सेना, नगर निगम अध्यक्ष रिंकूज विज, नगर निगम में नेता प्रतिपक्ष कमलेश अग्रवाल सहित अन्य जन-प्रतिनिधि उपस्थित थे।

shivraj singh chouhan

मुख्यमंत्री ने चिकित्सकों का किया सम्मान

मुख्यमंत्री चौहान ने योजना में बच्चों के इलाज में महती भूमिका निभाने वाले हृदय रोग विशेषज्ञ डॉ. के.एल. उमा महेश्वर, कार्डियोलोजिस्ट डॉक्टर सुदीप चौधरी, नि:चेतना विशेषज्ञ डॉक्टर सुनील जैन एवं डॉक्टर राजीव बड़ेरिया को सम्मानित किया। मुख्यमंत्री चौहान को कलेक्टर एवं जिला रेडक्रॉस सोसायटी के अध्यक्ष सौरभ कुमार सुमन तथा समिति के उपाध्यक्ष मेट्रो प्राइम हॉस्पिटल के संचालक सौरभ बड़ेरिया ने स्मृति-चिन्ह भेंट किया।

बच्चों को पौष्टिक भोजन देने सरकार और समाज मिलकर कार्य करें :मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि बच्चों के लिए पौष्टिक भोजन की व्यवस्था पुण्य का कार्य है। ऐसे कार्यों में समाज और सरकार मिल कर कार्य करते हैं तो ज्यादा संख्या में जरूरतमंदों तक सेवाएँ पहुँचती हैं। अक्षय पात्र फाउंडेशन और एचईजी लिमिटेड के प्रयास सराहनीय हैं। मुख्यमंत्री चौहान आज प्रधानमंत्री पोषण शक्ति निर्माण योजना में अक्षय पात्र फाउंडेशन बैंगलुरू द्वारा स्कूली विद्यार्थियों को मध्यान्ह भोजन पहुँचाने के लिए मध्य प्रदेश में प्रारंभ हुए प्रथम मेगा किचन के उद्घाटन कार्यक्रम को वर्चुअली संबोधित कर रहे थे।

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि “परहित सरस धर्म नहीं भाई, परपीड़ा सम नहीं अधमाई”। परोपकार से बड़ा कोई पुण्य नहीं है। अन्य लोगों की पीड़ा को अनुभव कर उसे कम करने का प्रयास करना ही मनुष्य धर्म है। बच्चों को शुद्ध, ताजा और गरम भोजन मिल जाए तो उससे उन्हें पोषण भी मिलता है, जो शरीर को स्वस्थ बनाता है। शरीर स्वस्थ है तो मन भी स्वस्थ रहता है। मुख्यमंत्री ने कहा कि बच्चों को भोजन और और पौष्टिक सामग्री उपलब्ध करवाने के लिए अन्य संस्थाएँ भी आगे आएंगी तो उनका भी स्वागत है। हम संयुक्त प्रयासों से बच्चों को बेहतर पोषण दे सकेंगे।

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की प्रेरणा से जहाँ पीएम पोषण शक्ति निर्माण कार्यक्रम संचालित किया जा रहा है। वहीं मध्य प्रदेश सरकार कक्षा 8वीं तक अध्यनरत बेटे-बेटियों के लिए स्कूल प्रांगण में ही मध्याह्न भोजन की व्यवस्था कर रही है। फाउंडेशन समर्पित भावसे बच्चों को गुणवत्तापूर्ण भोजन पहुंचाने का कार्य कर रहा है। भोपाल में इसकी शुरूआत सराहनीय है। स्वामी चंचलापति जी की टीम जो कार्य कर रही वह ईश्वर की आराधना से कम नहीं है, क्योंकि बच्चे ही भगवान का रूप होते हैं। मध्य प्रदेश शासन द्वारा एचईजी से किए गए अनुबंध में शासन द्वारा खाद्यान्न सामग्री दी जाएगी। साथ ही भोजन पकाने की लागत भी सरकार वहन करेगी। मुख्यमंत्री चौहान ने एचईजी लिमिटेड द्वारा पर्यावरण, कृषक विकास और सामाजिक क्षेत्र में संचालित प्रकल्पों की सराहना की। मुख्यमंत्री ने बताया कि वे भी प्रतिदिन पौध-रोपण करते हैं। इस कार्य में संस्थाएँ और व्यक्ति सहभागी बन रहे हैं।

-भारत एक्सप्रेस

Also Read