ADR Report: लोकतंत्र के मंदिर में बैठे 40 फीसदी सांसद दागी? ADR रिपोर्ट में खुलासा

लोकसभा और राज्यसभा के प्रत्येक सांसद की संपत्ति का औसत मूल्य 38.33 और 53 करोड़ रुपये है. वहीं 7 फीसदी सांसद अरबपति हैं.

ADR Report

ADR Report

ADR Report On MPs: लोकतंत्र के मंदिर में बैठने वाले मौजूदा सांसदों में से 40 फीसदी के खिलाफ गंभीर आपराधिक मामले दर्ज हैं. चुनाव अधिकार संस्था एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स (ADR) की रिपोर्ट में यह दावा किया गया है. इन 40 में से 25 फीसदी के खिलाफ हत्या, हत्या के प्रयास, अपहरण और महिलाओं के खिलाफ अपराध के तहत गंभीर आपराधिक मामले दर्ज हैं. एडीआर रिपोर्ट में बताया गया है कि लोकसभा और राज्यसभा के प्रत्येक सांसद की संपत्ति का औसत मूल्य 38.33 और 53 करोड़ रुपये है. वहीं 7 फीसदी सांसद अरबपति हैं. एडीआर और नेशनल इलेक्शन वॉच (NEW) ने लोकसभा और राज्यसभा की 776 सीटों में से 763 मौजूदा सांसदों के स्व-शपथ पत्रों का विश्लेषण किया है.

सांसदों के हलफनामों के आधार पर जुटाई गई जानकारी

रिपोर्ट में जिस डेटा का इस्तेमाल किया गया है उसे सांसदों ने ही पिछले चुनाव से लेकर उप चुनाव लड़ने से पहले दायर किए गए हलफनामों में बताया था. लोकसभा की चार सीटें और राज्यसभा की एक सीट खाली है और जम्मू-कश्मीर की चार राज्यसभा सीटें अपरिभाषित हैं. वहीं रिपोर्ट के मुताबिक, 1 लोकसभा और तीन राज्यसभा सांसदों के डिटेल नहीं मिल पाए. विश्लेषण किए गए 763 मौजूदा सांसदों में से 306 मौजूदा सांसदों ने अपने खिलाफ आपराधिक मामले घोषित किए हैं. वहीं 194 मौजूदा सांसदों ने गंभीर आपराधिक मामले घोषित किए हैं जिनमें हत्या, हत्या के प्रयास, अपहरण, अपराध से संबंधित मामले शामिल हैं.

यह भी पढ़ें: पहले ‘पठान’ अब ‘जवान’… ‘किंग खान’ ने बॉलीवुड के सूखे को किया खत्म, आसान नहीं थी OTT से थिएटर की राह

राज्यवार रिपोर्ट

दोनों सदनों के सदस्यों में, केरल के 29 सांसदों में से 23 , बिहार के 56 सांसदों में से 41 , महाराष्ट्र के 65 सांसदों में से 37, तेलंगाना के 24 सांसदों में से 5 और दिल्ली के 10 सांसदों में से 5 ने अपने शपथपत्रों में अपने खिलाफ आपराधिक मामले घोषित किए हैं. वहीं बिहार के 56 सांसदों में से लगभग 28 , तेलंगाना के 24 सांसदों में से 9, केरल के 29 सांसदों में से 10, 65 सांसदों में से 22 महाराष्ट्र से और उत्तर प्रदेश से 108 सांसदों में से 37 ने अपने शपथपत्रों में गंभीर आपराधिक मामले घोषित किए हैं. अगर पार्टी की बात करें तो बीजेपी के 385 सांसदों में से करीब 139, कांग्रेस के 81 सांसदों में से 43, टीएमसी के 36 सांसदों में से 14, आम आदमी पार्टी के 11 सांसदों में से 3,वाईएसआरसीपी के 31 सांसदों में से 13 और एनसीपी के 8 में से 8 सांसदों ने अपने हलफनामे में अपने खिलाफ आपराधिक मामले दर्ज होने की बात की है.

-भारत एक्सप्रेस

Bharat Express Live

Also Read